स्वाल का अभिनव उत्पाद त्रिशुक – 3 स्तरीय सुरक्षा वाला गन्ना खरपतवार नाशक

Share

खरपतवार से हर साल गन्ना किसानों को 25-50% उपज हानि का सामना करना पड़ता है

31 मार्च 2022, मुंबई ।  स्वाल का अभिनव उत्पाद त्रिशुक – 3 स्तरीय सुरक्षा वाला गन्ना खरपतवार नाशक – स्वाल कॉर्पोरेशन लिमिटेड गन्ना किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए लेकर आया है – त्रिशुक- एक खरपतवार प्रबंधन समाधान। यह अभिनव उत्पाद भारत का पहला तीन स्तरीय मिक्स गन्ना खरपतवार नाशक है जो खरपतवार प्रबंधन की लागत को कम करता है और प्रभावी खरपतवार प्रबंधन के ज़रिए किसानों की फसल उत्पादकता को बढ़ाता है। 2,4-डी सोडियम नमक 44%, मेट्रिबुज़िन 35% और पीएसई 1% डब्ल्यूजी से बना, यह प्लांट ग्रोथ रेगुलेटर (पीजीआर), मोबाइल प्रकाश संश्लेषण अवरोधक और एसीटोलैक्टेट सिंथेज़ (एएलएस) अवरोधक के रूप में तीन स्तरीय सुरक्षा प्रदान करता है।

  • खरपतवार से हर साल गन्ना किसानों को 25-50% उपज में हानि
  • त्रिशुक देता है 50-60 दिनों का खरपतवार नियंत्रण
  • श्रम लागत  प्रति एकड़ 3000-4000 रुपयों से कम

 खरपतवार प्रबंधन सही न कर पाने की वजह से हर साल गन्ना किसानों को 25-50% उपज हानि का सामना करना पड़ता है। अपने अभिनव उत्पाद, तीन स्तरीय सुरक्षा प्रदान करने वाले, मिक्स खरपतवार नाशक के ज़रिए किसानों के इस नुकसान को कम करना त्रिशुक का लक्ष्य है। पिछले तीन वर्षों में, भारत के प्रमुख गन्ना उत्पादक राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात, पंजाब और हरियाणा में किए गए 1000 से अधिक परीक्षणों में त्रिशुक ने असाधारण परिणाम दिखाए हैं। यह देखा गया कि त्रिशुक 50-60 दिनों का खरपतवार नियंत्रण देता है और खरपतवार प्रबंधन की श्रम लागत को प्रति एकड़ 3000-4000 रुपयों से कम करता है।

 किसान इस उत्पाद का आसानी से लाभ उठा सकें इसलिए स्वाल कॉर्पोरेशन ने 40 लॉन्च इवेंट आयोजित करके 3500 डीलरों को प्रशिक्षित किया है। डीलरों और किसानों ने त्रिशुक के इस उत्पाद का स्वागत किया है।

 स्वाल कॉर्पोरेशन के बिज़नेस हेड श्री पंकज जोशी ने कहा, “हम समझते हैं कि गन्ना भारतीय किसान के लिए आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण फसल है। इसे ध्यान में रखते हुए, हमने सर्वोत्तम खरपतवार प्रबंधन समाधान के रूप में त्रिशुक को लॉन्च किया है। हमने देखा है कि यह घास, ब्रॉड लीव वीड्स, और सेज वर्गीय खरपतवार पर नियंत्रण बेहतर नियंत्रण, श्रेणी में सर्वोत्तम फसल सुरक्षा और लंबी अवधि के लिए खरपतवार नियंत्रण देता है। किसान हमारे प्रमुख हितधारक हैं और हम उनके कल्याण और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध हैं। नवाचार के माध्यम से हम उनके जीवन को आर्थिक रूप से बेहतर बनाना चाहते हैं। त्रिशुक एक ऐसा उत्पाद है जो गन्ना किसानों को उनकी आय और फसल की उपज बढ़ाने में मदद करेगा।”

 कोल्हापुर, महाराष्ट्र के एक गन्ना किसान श्री अमित पाटील कहते है,मैंने अपने खेत में गन्ना बोने के एक महीने बाद त्रिशुक का इस्तेमाल किया। उस समय 3-4 पत्तों पर खरपतवार थे। त्रिशुक के प्रयोग से मेरे खेत में 100% खरपतवार नियंत्रित हो गए, और 50-60 दिनों तक फिर से खरपतवार नहीं उगे। इस तरह मैंने मेहनत और खरपतवार नियंत्रण के लिए दूसरे खरपतवारनाशकों के 3 से 4 हजार रूपए बचाए।”

महत्वपूर्ण खबर: पंजाब सरकार ने गुलाबी सुंडी कीट से प्रभावित किसानों को मुआवजा दिया

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.