धान रोपाई के लिए बेहतर विकल्प पेडी ट्रांसप्लांटर

Share

धान रोपाई के लिए बेहतर विकल्प पेडी ट्रांसप्लांटर

21 जुलाई 2020, होशंगाबाद। धान रोपाई के लिए बेहतर विकल्प पेडी ट्रांसप्लांटर – जिले में धान की फसल के प्रति कृषकों के बढ़ते रुझान को देखते हुए तथा धान की रोपाई में मजदूरों की कमी की समस्या के समाधान हेतु पेडी ट्रांसप्लांटर (धान रोपाई मशीन) एक बेहतर विकल्प है। इस पेडी ट्रांसप्लांटर द्वारा प्रतिदिन 2 हेक्टेयर क्षेत्रफल (5 एकड़) क्षेत्रफल में धान की रोपाई की जा सकती है। इस मशीन में पौधे से पौधे की दूरी को आवश्यकतानुसार व्यवस्था की जा सकती है।

गत दिनों होशंगाबाद विकासखंड के ग्राम पतलई खुर्द के किसान श्री शैलेन्द्र जोशी के प्रक्षेत्र पर पेडी ट्रांसप्लांटर से धान की रोपाई मशीन का चलित प्रदर्शन कृषि महाविद्यालय पवारखेड़ा के डीन एवं जोनल कृषि अनुसंधान केन्द्र पवारखेड़ा के संचालक डॉ. पी.सी. मिश्रा एवं उप संचालक कृषि जितेन्द्र कुमार सिंह, कृषि वैज्ञानिकों एवं कृषि विभाग की टीम एवं ग्राम के किसानों की उपस्थिति में देखा। यह प्रदर्शन कृषि अभियांत्रिकी पवारखेड़ा एवं महिन्द्रा कंपनी के द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया।

विगत वर्ष भी ग्राम पलासी के कृषक श्री अंजनि अग्रवाल के यहां पेडी ट्रांसप्लांटर से धान रोपाई का नवाचार किया गया था, जिसके परिणाम बहुत अच्छे आये थे। स्वयं पालसी के कृषक अंजनी अग्रवाल का कहना है कि गत वर्ष पेडी ट्रांसप्लांटर को रोपाई करने पर मजदूरों से धान रोपाई करने की तुलना में कम लागत में लगभग 20 प्रतिशत अधिक उत्पादन प्राप्त हुआ है। इस वर्ष भी श्री अंजनि अग्रवाल द्वारा पेडी ट्रांसप्लांटर (धान रोपाई) का कार्य अपने प्रक्षेत्र में किया है।

यदि पेडी ट्रांसप्लांटर से धान रोपाई करने पर प्रति एकड़ खर्चा लगभगग 1000 रुपये आता है एवं सामान्य मजदूरों से रोपाई करने पर 3500 से 4000 रुपये खर्च आता है। परन्तु इस वर्ष मजदूरों की समस्या/ कमी होने से रोपाई कार्य में लगभग 5000 रुपये का खर्च होगा। जैसे सामान्यत: मजदूरों से धान रोपाई में लगभग 20 क्विंटल प्रति एकड़ उपज प्राप्त होती है, परन्तु पेडी ट्रांसप्लांटर से रोपाई करने पर 25 क्विंटल प्रति एकड़ उपज प्राप्त होती है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.