ग्रोप्लस से भूमि सुधरी

Share

25 जुलाई 2022, चंबल । ग्रोप्लस से भूमि सुधरी – कभी-कभी व्यक्ति को भेड़ चाल नहीं चलना चाहिए हमेशा भीड़ का हिस्सा बनने से बेहतर है कि एकांत में खड़े रहने से भी उचित लाभ मिलता है।

यह कहना है श्री मोहर सिंह रावत ग्राम शंकरपुर करोरा का। जब से श्री रावत ने खेती संभाली तब से ही उन्होंने देखा कि आसपास के खेत वाले हमेशा डीएपी खेत में डालते हैं। किंतु पिछले 2 वर्ष पूर्व कोरोमंडल कंपनी प्रतिनिधियों के संपर्क में आने से उन्हें पता चला कि डीएपी के स्थान पर कोरोमंडल का ग्रोप्लस में भी डाल सकते हैं उसके भी अच्छे परिणाम मिलते हैं तब से श्री रावत अपने खेत में डीएपी की जगह ग्रोप्लस का उपयोग करने लगे। फसलों में इसके सकारात्मक परिणाम मिलने से भूमि सुधरी एवं फसल का भरपूर उत्पादन हुआ। ग्रोप्लस उपयोग से उत्साहित श्री रावत अन्य कृषकों को इसके उपयोग की सलाह देने लगे।

महत्वपूर्ण खबर: मध्यप्रदेश में वर्षा का दौर जारी, कई बांधों के गेट खोले

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.