बीएएसएफ प्रयाक्सर – तरक्की का नया मीटर

Share

9 अगस्त 2021, बीएएसएफ  प्रयाक्सर – तरक्की का नया मीटर – सोयाबीन की खेती करने वाले किसानों को फसल में लगने वाली बीमारियों तथा तनाव का सामना करना पड़ता है। फसल में पत्तियों पर चकत्ते, कम संख्या में फलियों के आने, दानों की ठीक से भराई न होने और असमान परिपक्वता जैसी चुनौतियों के कारण अक्सर पैदावार में उल्लेखनीय कमी हो जाती है।

बीएएसएफ प्रयाक्सर एक नया अनोखा फफूंदनाशक है जिसे झेमियम ने शक्ति प्रदान की है, यह एसडीएचआई में नवीनतम रसायन है। प्रयाक्सर पौधों में तनाव को मिटाकार उन्हें अति उत्तम स्वास्थ्य दिलाता है, जिससे सोयाबीन में आमतौर पर होने वाली बीमारियों से लंबी अवधि तक सुरक्षा मिलती है। झेमियम युक्त प्रयाक्सर में अति उत्तम अंतप्र्रवाही गुण है जिसे इसका उचित फैलाव होता है, इसे अच्छी तरह ग्रहण किया जाता है तथा यह बारिश में बहता नहीं है।

पौधों में झेमियम की निरंतर आपूर्ति तथा वितरण से पौधों को वनस्पति वृद्धि अवस्था में भी लंबी अवधि तक सुरक्षा मिलती है। प्रयाक्सर सोयाबीन के पौधों में बीमारियों को विश्वसनीय तरीके से रोकने, पौधों द्वारा नाइट्रोजन को उचित तरीके से इस्तेमाल करने और हरियाली को सुधारने तथा एक समान परिपक्वता दिलाने में मदद करता है। किसानों को प्रयाक्सर का इस्तेमाल करके ज्यादा फलियाँ मोटे दाने और ऊंची पैदावार मिलती है। फली आना शुरु होने पर प्रयाक्सर का इस्तेमाल 120 मिली/एकड़ की दर से करें।

प्रयाक्सर आपके नजदीकी रिटेल स्टोर्स में 120 मिली. और 360 मिली. पैक्स में उपलब्ध है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.