जगदीश के जुगाड़ से घटी प्याज़ बीज बोने की लागत

Share

26 नवंबर, 2021, इंदौर: प्याज़ बीज बोने की सस्ती और सुविधाजनक मशीन का निर्माण ग्राम जगोटी तहसील महिदपुर जिला उज्जैन निवासी श्री जगदीश पंवार ने अपने गांव में ही किया है। इनका गांव घट्टिया से मात्र 6 किमी दूर है। गत दिनों कृषक जगत के पोर्टल पर प्रसारित इस मशीन का वीडियो देखने के बाद कई किसानों ने इसमें रूचि ली और इसकी लागत आदि के बारे में पूछा तो किसानों के हित में कृषक जगत ने मशीन निर्माता श्री जगदीश पंवार से चर्चा की।

वीडियो देखने के लिए, लिंक पर क्लिक करें: प्याज बीज ड्रिल मशीन

मिडिल तक शिक्षित श्री जगदीश पंवार (35 )ने कृषक जगत को बताया कि प्याज बीज बोने की इस मशीन को गांव में ही खुद ने 15 दिन में  तैयार किया है। इसमें प्रयुक्त होने वाली सामग्री गांव के अलावा उन्हेल और उज्जैन से भी खरीदी है। इसकी लागत मात्र ढाई हज़ार रुपए आई है। श्री पंवार का मानना है कि प्याज़ के रोपे तैयार कर उन्हें स्थानांतरित करने में किसान की लागत भी ज़्यादा आती है और इसमें पौधों की वृद्धि भी रुक जाती है , जबकि इस मशीन से सीधे प्याज़ बीज बोने से लागत में तो कमी आएगी ही,फसल वृद्धि भी अच्छी होगी, क्योंकि प्याज़ का बीज हल्का होता है, जिसे गहराई में नहीं डालना पड़ता है।

श्री पंवार ने कहा कि इस मशीन से प्याज़ बीज की दो प्रकार से बुवाई कर सकते हैं। एक तो गेहूं-चने में जैसे सरी बनाकर करते हैं वैसे तथा दूसरा बेड बनाकर। इसमें दो फीट का बेड बनता है, जिसके बीच में प्याज़ का पौधा होने और दोनों तरफ नाली होने से पौधे को नमी मिलती रहेगी। वैसे भी प्याज़ को ज़्यादा पानी की ज़रूरत नहीं रहती इसलिए कम पानी में भी अधिक उत्पादन लिया जा सकता है।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.