‘खाद का सही उपयोग’ कार्यक्रम का सीधा प्रसारण

रतलाम। कृषि विज्ञान केंद्र जावरा रतलाम द्वारा केवीके प्रांगण में वेब कास्टिंग के माध्यम से खाद एवं उर्वरकों के संतुलित उपयोग के बारे में कृषकों को सीधा प्रसारण दिखाया गया । इस कार्यक्रम में खाद, उवर्रक एवं रसायन मंत्री श्री सदानंद गौड़ा, कृषि मंत्री श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं कृषि राज्य मंत्री श्री पुरूषोत्तम रूपाला के द्वारा किसानों को संबोधित किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य किसानों को अधिक मात्रा में उपयोग हो रहे उर्वरकों का संतुलित मात्रा में प्रयोग कर मृदा स्वास्थ्य सुधार एवं कृषि की लागत कम कर आमदनी दोगुनी करना था। इस अवसर पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ. त्रिलोचन महापात्रा ने संस्था के वैज्ञानिकों द्वारा नए तैयार किए जा रहे जैव उर्वरकों से होने वाले लाभ के विषय में अवगत कराया। 

उक्त कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्री आर.के. मिश्रा, मार्केटिंग प्रबंधक राष्ट्रीय केमिकल फर्टीलाइजर लि., रतलाम, विशिष्ट अतिथि श्री सुरेन्द्र सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक, इफको, जिला रतलाम, श्री लखनसिंह यादव, नेशनल फर्टीलाइजर लि., जिला रतलाम व कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. सर्वेश त्रिपाठी, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख, केवीके रतलाम ने की। कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ. त्रिपाठी ने मृदा स्वास्थ्य सुधार हेतु फसलों के अपशिष्ट प्रबंधन के लिए वेस्ट डिकम्पोजर एवं वर्मी कम्पोस्ट, वर्मी वॉश के प्रयोग के लिए कृषकों को जानकारी प्रदान की । कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. सी. आर. कांटवा ने फसल चक्र अपनाकर मृदा की उर्वरता बनाएं रखने के लिए एवं जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए कृषकों को जागरूक किया। 

कार्यक्रम के दौरान इफको, एन.एफ.एल., आर.सी.एफ. के कर्मचारी/अधिकारी तथा कृषक / महिला कृषको सहित 204 लोग उपस्थित थे । उक्त कार्यक्रम का संचालन डॉ. डी आर पचोरी ने किया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में डॉ. आर.डी. घसवा, डॉ. बरखा शर्मा, श्री मनोज कुमार रजक एवं श्री अनिल उपाध्याय आदि का योगदान सराहनीय रहा । आभार प्रदर्शन डॉ. आर.एस. भदौरिया ने व्यक्त किया । 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *