चने की नई किस्म जे.जी. 12 का बीज उपलब्ध

Share

चने की नई किस्म जे.जी. 12 का बीज उपलब्ध – कृषि विज्ञान केन्द्र, टीकमगढ़ में सीड हब कार्यक्रम के अन्तर्गत चना की नई किस्म (जे.जी.-12) अधिक उत्पादन क्षमता (22-25 क्विं./हे.) एवं उकठा निरोधक किस्म है। वैज्ञानिकों ने क्षेत्र में किसानों से चर्चा कर चना का क्षेत्रफल घटने एवं चना कम बुवार्इ्र करने के बारे में जानकारी लेने पर पता चला कि चना की पुरानी किस्मों में उकठा रोग (पौधा सूखना) एवं कम उपज प्राप्त होना बताया गया, इसी समस्या के समाधान हेतु वैज्ञानिकों ने सीड हब परियोजना के अन्तर्गत जवाहर लाल नेहरू कृषि विष्वविद्यालय द्वारा चना की नई अधिक उत्पादन देने वाली एवं उकठा निरोधक प्रजाती विकसित की गयी है। जिन किसानों के पास आंषिक सिंचाई सुविधा है उन्हें गेहॅू के बजाय चना या सरसों की खेती ज्यादा लाभदायक है। चना बीज की दर प्रमाणित की 6600/- रू. प्रति क्ंिव. और आधार बीज की दर 6700/- रू. प्रति क्ंिव. है। इच्छुक किसान कृषि विज्ञान केन्द्र-कुण्डेष्वर रोड-टीकमगढ़ (म.प्र.)में वैज्ञानिक डॉ. एस. के. सिंह (मो.-7999344526) एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. बी. एस. किरार (मो.-9425596756) पर सम्पर्क कर बीज खरीद सकते है।

महत्वपूर्ण खबर : फसल कटाई प्रयोगों के आंकड़ों की विसंगति निराकृत हुई

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *