फसल की खेती (Crop Cultivation)

किसानो में प्रचलित मक्का किस्म ‘स्टार 33’; जानिए मुख्य विशेषताए

Share

15 मई 2024, भोपाल: किसानो में प्रचलित मक्का किस्म ‘स्टार 33’; जानिए मुख्य विशेषताए – सभी प्रगतिशील किसान अपनी फसलों में विविधता लाने का प्रयास करते हैं ताकि कम मंडी दरों के कारण फसल के नुकसान को बचाया जा सके और खेत में अनेक फसलों के माध्यम से आय में सुधार किया जा सके। इसके लिए किसानों की पसंदीदा फसल में से एक मक्का है क्योंकि इसमें किसानों को उचित दाम मिलता है और बची हुई फसल को पशुओं के लिए चारे के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसी संदर्भ में, मध्य भारत के किसानों के बीच स्टार 33 नाम से मक्के की एक किस्म लोकप्रिय हो रही है। यहाँ किस्म स्टार एग्रीसीड्स द्वारा विकसित की गई है। यह किस्म कम समय तथा कम निवेश में मक्का की खेती से अच्छा उत्पादन देती है। इसकी उच्च कीट प्रतिरोधक क्षमता खेती की लागत को भी कम रखती है।

प्रगतिशील किसान शैलेश पाटीदार ने बताया कि उन्होंने पिछले सीजन में स्टार 33 मक्का किस्म का उपयोग किया था और इसने खेती की औसत लागत की तुलना में उन्हें 27 क्विंटल/ एकड़ की उपज दी। फसल करीब 95 दिन मैं तैयार हो गई थी। उन्होंने यह भी बताया कि कोई अत्यधिक कीट और बीमारी का प्रकोप नहीं था और उन्हें बाजार दर भी अच्छी मिली। उन्होंने कहा कि वह दोहरे उद्देश्य के लिए मक्का उगाते हैं, मक्का को मंडी में बेचते है और बची हुई वनस्पति हरी फसल को अपने पशुओं के लिए हरे चारे के रूप में उपयोग करते है। उन्होंने बताया की वे इस बार लगभग 25 बीघे जमीन पर स्टार 33 मक्का की खेती करेंगे। 

स्टार 33 मक्का की मुख्य विशेषताएं:

उत्पादन क्षमता: स्टार 33 मक्का विशेष रूप से उच्च उत्पादन देने के लिए विकसित की गई है, जिससे प्रति एकड़ 25 से 30 क्विंटल तक की पैदावार मिल सकती है।

परिपक्वता अवधि: इसकी परिपक्वता अवधि केवल 90-95 दिन है, जो आपको वर्ष में अधिक फसल चक्र संचालित करने का अवसर देती है।

रोग और कीट प्रतिरोधकता: स्टार 33 में कीड़ों और रोगों के प्रति उच्च सहनशीलता होती है, जिससे यह कम उपचार लागत पर अधिक सुरक्षित पैदावार सुनिश्चित करता है।

शैलिंग प्रतिशत: स्टार 33 मक्का का शैलिंग प्रतिशत 85% से अधिक है, जिससे यह बाजार में उच्च मूल्यांकन प्राप्त करता है। उच्च शैलिंग प्रतिशत का मतलब है कि मक्के के दाने आसानी से भुट्टे से अलग हो जाते हैं, जिससे किसानों को उन्हें बेचने में आसानी होती है और उनकी उपज का मूल्य बढ़ता है।

बाजार में उच्च मूल्य: इसके उच्च शैलिंग प्रतिशत और उत्कृष्ट गुणवत्ता के कारण, स्टार 33 मक्का बाजार में अधिक मूल्य प्राप्त करता है, जिससे किसानों को अपनी मेहनत का बेहतर वित्तीय प्रतिफल मिलता है।

स्थायित्व और गिरने की शिकायत नहीं: स्टार 33 की एक और महत्वपूर्ण विशेषता है इसकी दृढ़ता। यह किस्म गिरने (लॉजिंग) के प्रति प्रतिरोधी है, जिसका अर्थ है कि मजबूत हवाओं या अधिक वर्षा के समय भी पौधे सीधे और मजबूत खड़े रहते हैं। इससे फसल की बर्बादी कम होती है और पैदावार में सुधार होता है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements