समस्या – मैं ग्वारपाठा लगाना चाहता हूं कृपया तकनीकी बतायें।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

तुलसीराम राय, गंजबासोदा

समाधान – ग्वारपाठा को घृतलहरी भी कहा जाता है। इस समय इसको लगाने का समय भी चल रहा है। आप भी लगायें परंतु निम्न तकनीकी अपनायें।

  • इसको सभी प्रकार की भूमि कम उपजाऊ भूमि में भी लगाया जा सकता है।
  • इसकी जातियों में ऐलोवेरा, एलोइंडिका, एलो स्पेंसेस, जाफरावादी इत्यादि।
  • इसके कंदों अथवा ट्यूवर्स से इसे लगाया जाता है।
  • पुराने पौधों की जड़ों के पास से छोटे-छोटे कंद निकाले जा सकते हैं।
  • एक हेक्टर क्षेत्र में 14000 से 16000 तक पौधे लगाये जा सकते हैं।
  • कटाई के लिये एक वर्ष बाद हर तीन माह में कटाई की जा सकती है।
व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 13 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।