खेती में किफायत – कम खर्च

Share

कबाड़ से जुगाड़

पपीते के नन्हें पौधों को तेज धूप और लू से बचाने के लिए पुराने रद्दी अखबारों की ओट बनाई बड़वानी जिले के श्री हरीश पटेल ने। इसके साथ ही पौध के पश्चिमी तरफ ढैंचा भी लगाया है। इसमें खर्च भी कम है और ढैंचा का उपयोग हरी खाद के रूप में किया जा सकता है। इससे मिट्टी की उर्वराशक्ति भी बढ़ती है। अंजड़ तहसील के श्री पटेल ने अपने 5 एकड़ खेत में पपीते की ताईवान 786 किस्म के लगभग 5 हजार पौधे लगाए। पौधे से पौधे की दूरी 6 फीट और कतार के बीच की दूरी साढ़े सात फीट रखी। 10 अप्रैल को रोपे पौधे 9 माह के भीतर फल देने लगेंगे। अधिक जानकारी के लिए मो. : 9630755683 पर संपर्क करें।

व्हाट्सएप / ईमेल करेंं

आप हमें अपने खेत के क्षेत्र के, बगीचे के, बाड़ी के फोटो, अन्य जानकारी, जिसे आप कृषक जगत के दूसरे पाठकों से साझा करना चाहें, रोचक हो, ज्ञानपरक हो, नवीन हो तो हमें व्हाट्सएप करें, ईमेल करें, पत्र लिखें। हमें आपके संदेशों का इंतजार रहेगा।
मो.-9826034864, 9826021837, 9826255864,
ईमेल : info@krishakjagat.org

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.