गौशाला उन्नयन कार्यशाला व प्रशिक्षण कार्यक्रम

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

नरसिंहपुर। जिला गौ पालन एवं पशुधन संवर्धन समिति नरसिंहपुर के तत्वावधान में एक दिवसीय गौ शाला उन्नयन कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन गत दिनों दयोदय गौशाला परिसर गाडरवारा में सांसद श्री राव उदय प्रताप सिंह के मुख्य आतिथ्य में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संदीप पटैल ने की, जबकि अपैक्स बैंक के पूर्व उपाध्यक्ष श्री कैलाश सोनी विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद थे।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री नरेश पाल, पूर्व विधायक एवं महापौर सुश्री कल्याणी पांडे, पशु चिकित्सा महाविद्यालय जबलपुर के प्राध्यापक (फार्मेकोलॉजी) डॉ. राजेश शर्मा, एसडीएम श्री जेपी सैयाम, सांईखेड़ा जनपद पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती फूला बाई डब्बल सिंह, चेयरमेन जिला रेडक्रास सोसायटी श्री जगदीश मनीभाई मानसाता, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्री नवनीत चाचा, दयोदय पशु सेवा/ गौशाला समिति डमरूघाटी गाडरवारा के पदाधिकारीगण श्री राजीव जैन व श्री राजकुमार जैन, उप संचालक पशु चिकित्सा/ सचिव गौ पालन एवं पशु संवर्धन समिति डॉ. केके द्विवेदी, जिला वन उपज सहकारी संघ के अध्यक्ष श्री मनीष राजपूत, पशु चिकित्सकगण, प्रगतिशील कृषक, गौशाला प्रबंधक, गौ प्रेमी, चिंतक, बुद्धिजीवी, सामाजिक कार्यकर्ता, मीडिया प्रतिनिधि और नागरिकगण मौजूद थे।
कार्यशाला के प्रथम सत्र में सांसद श्री राव उदय प्रताप सिंह ने कहा कि गौ सेवा पुण्य कार्य है। जो जहां है, वहीं से गौ सेवा के कार्य में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से अपना योगदान दे। उन्होंने गौ संवर्धन पर विशेष जोर दिया। श्री सिंह ने आग्रह किया कि दूध नहीं देने वाली गाय की भी सेवा करें। गौ सेवा हमारी आदत व आचरण में आना चाहिए। उन्होंने गौ संरक्षण की योजनाओं में सामान्य वर्ग को भी लाभांवित करने की जरूरत की बात कही। श्री सिंह ने स्थानीय गौ शाला और अन्य गौ शालाओं के लिए और बेहतर इंतजाम करने के लिए हर संभव मदद के लिए आश्वस्त किया।
जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संदीप पटैल ने कहा कि प्राकृतिक संतुलन बनाए रखने में गाय का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने गाय की सेवा और संरक्षण के महत्व के बारे में बताया। श्री पटैल ने गौ वंश संरक्षण के प्रति कलेक्टर के सकारात्मक रूख एवं संवेदनशीलता की सराहना की।
अपैक्स बैंक के पूर्व उपाध्यक्ष श्री कैलाश सोनी ने कहा कि भारत की आर्थिक उन्नति में किसान और गौ वंश का अत्याधिक महत्वपूर्ण योगदान है। हमें गौ वंश आधारित कृषि, गौ पालन व गौ शालाओं के उन्नयन को बढ़ावा देना होगा। उन्होंने देशी गाय के महत्व को रेखांकित किया। श्री सोनी ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार गौ वंश संरक्षण की दिशा में सराहनीय कार्य कर रही है, जो पूरे देश में एक मिसाल है। उन्होंने खेती में गोबर खाद और गौ मूत्र से निर्मित कीटनाशकों के इस्तेमाल पर जोर दिया।
कलेक्टर श्री नरेश पाल ने कहा कि नरसिंहपुर जिला कृषि में अग्रणी है। यहां के किसान प्रगतिशील हैं। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि वे गौ संवर्धन और दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में आगे आएं। गौ शालाओं के उन्नयन और गौ संवर्धन के लिए राज्य शासन की अनेक योजनाएं हैं, इन योजनाओं का लाभ लें। उन्होंने कहा कि विभिन्न मंदिरों के पास उपलब्ध कृषि भूमि का उपयोग गौ संवर्धन व गौ शालाओं की स्थापना व उन्नयन के कार्य में किया जा सकता है, इसके लिए मंदिरों के ट्रस्टी पहल कर सकते हैं। वे गौ शाला समितियों के सदस्य भी बन सकते हैं।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + six =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।