किसानों को उचित दाम दिलाने मेगा फूड पार्क जरूरी

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

इंडस मेगा फूड पार्क का लोकार्पण
भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलवाने के लिए मेगा फूड पार्कों का होना जरूरी है। मुख्यमंत्री खरगोन जिले के पानवा में 80 एकड़ क्षेत्रफल में 127 करोड़ की लागत से स्थापित इंडस मेगा फूड पार्क किसानों को समर्पित कर रहे थे। यह पार्क केंद्रीय खाद्य प्र-संस्करण उद्योग मंत्रालय एवं राज्य शासन के सहयोग से स्थापित हुआ है। इस अवसर पर केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वैंकय्या नायडू, केन्द्रीय उद्योग मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल, केन्द्रीय उद्योग राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी उपस्थित थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार कृषि को लाभकारी बनाने के लगातार प्रयास कर रही है। मेगा फूड पार्क इसी का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि खाद्य-प्र-संस्करण इकाइयों की स्थापना से काश्तकारों को उनकी उपज का अच्छा दाम मिलेगा। श्री चौहान ने कहा कि सिंचाई संसाधनों का विस्तार किया जा रहा है। आने वाले कुछ वर्षों में 60 लाख हेक्टेयर जमीन को सिंचित करने का लक्ष्य है। पूरे निमाड़ क्षेत्र में सिंचाई संसाधनों की व्यवस्था और विस्तार किया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री श्री वैंकय्या नायडू ने कहा कि देश में कृषि एवं उद्योग दोनों जरूरी हैं। कुछ वर्ष पहले किसानों को लगा था कि कृषि लाभकारी नहीं है। वे कृषि क्षेत्र को छोड़कर जाने लगे थे। इसीलिए प्रधानमंत्री ने कृषि क्षेत्र के विकास पर विशेष ध्यान दिया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना उसी कड़ी का हिस्सा है। केंद्रीय खाद्य प्र-संस्करण उद्योग मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि आज का दिन खरगोन जिले के लोगों के लिए सुनहरा एवं ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि किसानों की हालत सुधारना है, तो खाद्य प्र-संस्करण उद्योग को बढ़ावा देना होगा। उन्होंने कहा कि देश में इस तरह के 42 मेगा फूड पार्क स्थापित किए जाएँगे। इस अवसर पर प्रदेश की उद्यानिकी तथा खाद्य प्र-संस्करण मंत्री सुश्री कुसुमसिंह महदेले, राज्य अनुसूचित जाति आयोग अध्यक्ष श्री भूपेंद्र आर्य, सांसद श्री सुभाष पटेल समेत अन्य जन-प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + five =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।