संयुक्त किसान मोर्चा का 13 सितंबर को सांसद कार्यालय पर प्रदर्शन

Share

10 सितम्बर 2022, इंदौर: संयुक्त किसान मोर्चा का 13 सितंबर को सांसद कार्यालय पर प्रदर्शन – संयुक्त किसान मोर्चा आगामी 13 सितंबर को सांसद श्री शंकर लालवानी के इंदौर कार्यालय पर उनकी गलत बयानी को लेकर प्रदर्शन करेगा। किसान नेताओं का कहना है कि ग्रेडिंग से समस्या का समाधान नहीं होने वाला है। समस्या का एकमात्र समाधान किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य दिलाना है,अन्यथा सरकार भावांतर राशि देकर उसकी भरपाई करे।

संयुक्त किसान मोर्चा के श्री रामस्वरूप मंत्री और श्री बबलू जाधव ने कृषक जगत को बताया कि  किसान आंदोलन के बाद  सरकार हरकत में ज़रूर आई है, लेकिन अभी भी समस्या जस की तस है। ग्रेडिंग से समस्या का समाधान नहीं होने वाला है। समस्या का एकमात्र समाधान किसानों को उनकी उपज का लाभकारी मूल्य दिलाना है। यदि वह नहीं मिलता है ,तो सरकार भावांतर राशि देकर उसकी भरपाई करें। संयुक्त किसान मोर्चा आगामी 13 सितंबर, मंगलवार को सांसद श्री शंकर लालवानी के कार्यालय पर प्रदर्शन करेगा। बता दें कि दो माह पूर्व सांसद ने किसानों को भ्रमित करते हुए कहा था कि लहसुन का निर्यात चालू कर दिया गया है, जबकि अभी तक इस संबंध में कहीं कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसके अलावा किसान अपने बकाया भुगतान की मांग को लेकर भी सांसद श्री लालवानी से जवाब मांगेंगे।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को भोपाल में एक उच्चस्तरीय बैठक कर अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसानों की उपज का लाभकारी मूल्य दिलाने की व्यवस्था की जाए । साथ ही लहसुन जिन राज्यों में अधिक उपयोग होता है, उन राज्यों में राज्य सरकार का प्रतिनिधि मंडल भेज कर किसानों का लहसुन वहां बेचने की व्यवस्था की जाए। दूसरी ओर उद्यानिकी विभाग के अवर सचिव श्री जेएन कंसोटिया ने भी प्रदेश के सभी कलेक्टरों और मंडी बोर्ड के चेयरमैन सहित अन्य अधिकारियों को लिखित निर्देश दिए हैं, कि सभी मंडियों में लहसुन सहित किसानों की उपज उचित मूल्य पर खरीदी तथा मंडियों में ग्रेडिंग की व्यवस्था भी करें।

महत्वपूर्ण खबर: पैक्स को पांच साल में 65 हजार से बढ़ाकर 3 लाख किया जाएगा

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.