देश में कोविड-19 रोगियों की वास्तविक संख्या केवल 3.42 लाख है

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

देश में कोविड-19 रोगियों की वास्तविक संख्या केवल 3.42 लाख है

इस बीमारी से 6.35 लाख लोग ठीक हो चुके हैं और इनकी संख्या बढ़ रही है

वेंटिलेटर पर 1% से कम मरीज,आईसीयू में 2% से कम मरीज और ऑक्सीजन बेड पर 3% से कम मरीज हैं

देश में कोविड-19 रोगियों की वास्तविक संख्या केवल 3.42 लाख है – देश भर में कोविड-19 के मरीजों की वास्तविक संख्या आज की तारीख में केवल 3,42,756 है। इस बीमारी से संक्रमित कुल लोगों में से अब तक 6.35 लाख (63.33%) से अधिक लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं।

1.35अरब लोगों के साथ दुनिया की दूसरा सबसे अधिक आबादी वाले देशभारत में प्रति दस लाख की आबादी पर कोविड संक्रमण के 727.4 मामले हैं। वैश्विक स्तर परभारत में प्रति दस लाख की जनसंख्या पर कोविड संक्रमण के मामले कुछ यूरोपीय देशों की तुलना में चौथाई से 8वें हिस्से तक कम है।

प्रति दस लाख की आबादी पर 18.6 मौतों के साथ देश में मृत्यु दर भी दुनिया में सबसे कम मृत्यु दर में से एक है। घर-घर सर्वेक्षण, संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वालों का समय-समय पर पता लगाने, कैंटेनमेंट तथा बफ़र ज़ोन की निगरानी, परिधि नियंत्रण गतिविधियों,तेजी से परीक्षण तथा समय रहते निदान के लिए सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के सहयोगात्मक प्रयासों के परिणामस्वरूप संक्रमित लोगों की शुरुआती पहचान हुई है। इससे संक्रमित लोगों का समय रहते उपचार करने में काफी मदद मिली है।

भारत ने कोविड-19 संक्रमण के विभिन्न स्तर जैसे हल्का, मध्यम और गंभीर मरीजों के लिए देखभाल प्रोटोकॉल के उन मानकों का पालन किया है जैसा कि स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (एमओएचएफडब्ल्यू)के नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल में स्पष्ट रूप से निर्दिष्ट है। प्रभावी नैदानिक प्रबंधन कार्यनीतियों ने सकारात्मक परिणाम दिए हैं। कोविड संक्रमण के बिना किसी लक्षण वाले और हल्के स्तर के संक्रमण के लगभग 80%मामलों में चिकित्सकीय देखरेख में घर में ही आइसोलेशन में रखने की सलाह दी गई है। मध्यम और गंभीर रोगियों का उपचार या तो समर्पित कोविडअस्पतालों या समर्पित कोविड स्वास्थ्य केंद्रों में किया जा रहा है। हल्के और बिना किसी लक्षण वाले मरीजों को घर में आइसोलेशन में रखने की रणनीति से अस्पतालों पर बोझ कम करने में आसानी हुई और वहां गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों के उपचार और मृत्यु दर को घटाने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। यह भी उल्लेखनीय है कि आईसीयू में 1.94% से कम मरीज, वेंटिलेटर पर 0.35%मरीज और ऑक्सीजन बेड पर 2.81%मरीज रखे गए हैं।

अस्पतालों में भर्ती मरीजों को गुणवत्तापूर्ण उपचार सुनिश्चित करने के लिए देश भर में चिकित्सा आधारभूत संरचना को लगातार बढ़ाया जा रहा है। ठोस प्रयासों के परिणामस्वरूप कोविड-19के मरीजों के इलाज के लिए कोविड-19 अस्पताल अवसंरचना आज अधिक मजबूत है। आज देश  में 1383 समर्पित कोविड अस्पताल,3107 समर्पित कोविड स्वास्थ्य देखभाल केंद्र और 10,382 कोविड देखभाल केंद्र हैं। इसके साथ ही सभी राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के अस्पतालों में 46,673 आईसीयू बेड,21,848 वेंटिलेटर हैं। देश में एन95मास्क और पीपीई किट की कोई कमी नहीं है। केंद्र ने राज्य / केंद्र शासित प्रदेशों / केंद्रीय संस्थानों को 235.58 लाख एन95 मास्क और 124.26 लाख पीपीई किट की आपूर्ति की है।

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी मुद्दों, दिशा-निर्देशों एवं परामर्शों पर सभी प्रामाणिक और अद्यतन जानकारी के लिए कृपया नियमित रूप से https://www.mohfw.gov.in/और @MoHFW_INDIA देखें।

कोविड-19 से संबंधित तकनीकी सवाल technicalquery.covid19@gov.in और अन्य सवाल ncov2019@gov.in एवं @CovidIndiaSevaपर भेजे जा सकते हैं।

कोविड-19 को लेकर यदि कोई सवाल हो तो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर: + 91-11-23978046या 1075 (टोल-फ्री) पर कॉल करें। राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों के हेल्पलाइन नंबरों की सूची भी https://www.mohfw.gov.in/pdf/coronvavirushelplinenumber.pdfपर उपलब्ध है।

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 5 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।