राज्य कृषि समाचार (State News)

देपालपुर क्षेत्र में 16 जून से चला सोयाबीन की बोनी का दौर

Share

29 जून 2024, (शैलेष ठाकुर, देपालपुर): देपालपुर क्षेत्र में 16 जून से चला सोयाबीन की बोनी का दौर – देपालपुर क्षेत्र में 16 जून से 27 जून तक सोयाबीन की बोनी का दौर चला। कुछ जगह कम नमी में भी बारिश  होने की संभावना के चलते बोनी की गई तो ,कहीं  बोने लायक नमी  को देखकर किसानों ने तुरंत बोनी शुरू कर दी, इसमें चांदेर, खजराया, बेगंदा, पेमलपुर,शिवगढ़, सेमदा, रिंगनवास आदि में 16 जून से बोनी शुरू कर दी गई। फिलहाल फसल की स्थिति अच्छी बताई जा रही है।

 बेगंदा के श्री सतीश पटेल ने बताया कि  17 जून को बोनी की इसमें जे एस 9560, ब्लैक बोर्ड,आरवीएस 2024,और डॉलर सोयाबीन बोया।जो बिल्कुल अच्छा उग गया,अब खरपतवार स्प्रे की तैयारी है । चांदेर के श्री लाखन सोलंकी ने 16  – 17 जून को बोनी की। सगड़ोद के श्री महेश मकवाना ने बताया हमारे गांव में 17 -18 जून  को  बोनी हुई है। मैंने  जे एस 9560 लगाई है। फसल अभी बहुत अच्छी है । सुमठा के श्री राजेश पंवार ने बताया  कि 22 -23 जून को सोयाबीन आर वी एस एम 1135 लगाई है । काई के श्री जीवन सिंह राठौर ने बताया  गांव में  22 – 23  जून को बोनी की गई ।  बिरगोदा,में 22 जून से बोनी शुरू  की ,लेकिन रोज शाम को पानी आने से 26 जून तक बोनी चली। 27 -28 जून को यहां बारिश ज्यादा होने से कुछ  खेतों में जल भराव से नुकसान होने की भी आशंका है।

बिरगोदा से किसान क्लब अध्यक्ष श्री मनोहर ठाकुर ने बताया आर वी एस एम 1135 ओर जे एस 2172 लगाई है । ग्राम भील बडोली से इंदौर दुग्ध संघ के अध्यक्ष श्री मोतीसिंह पटेल ने बताया हमारे यहां 21 से 23 जून तक बोनी  चली। हमने  जे एस 9560,6124 ओर 1050 किस्म बोई।जबकि  देपालपुर के श्री मोतीराम ठाकुर ने  एन आर सी 121,  और आर वी एस एम 1135 लगाई है । लेकिन 27 – 28  जून में अधिक पानी गिरने से थोड़े नुकसान की
आशंका  जताई जा रही है ।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements