बारिश की खेंच से सोयाबीन की बोनी का गणित गड़बड़ाया

Share

8 जून 2022, देपालपुर: बारिश की खेंच से सोयाबीन की बोनी का गणित गड़बड़ाया – क्षेत्र के कुछ गांवों के किसानों ने मानसून पूर्व की वर्षा के बाद 19 जून  से ही अपने खेतों में सोयाबीन की बोनी कर दी थी,जबकि कई किसान हाल ही में हुई बारिश के बाद अब बोनी कर रहे हैं। इस बार बारिश की खेंच से सोयाबीन की बोनी का गणित गड़बड़ा गया है। जिन किसानों ने कृषि विभाग की पर्याप्त नमी के बाद ही बुवाई करने की सलाह को दरकिनार कर बोनी की थी, वहां नमी की कमी के कारण सोयाबीन का अंकुरण ठीक से नहीं हुआ और पौधों की वृद्धि भी रुक गई। इस कारण 15 दिन की सोयाबीन फसल 8 दिन जैसी लग रही है।

किसान श्री पवन जाट, गोकलपुर ने बताया कि गांव में 19 जून को ही बोनी हो गई थी, लेकिन अब पानी गिरने से फसल में जान आ गई है ।श्री जाट ने 35 बीघा में सोयाबीन किस्म 1516  व 70 बीघा में जेएस  9560 लगाई है।इसी तरह ग्राम बारदाखेड़ी के किसान श्री विक्रम बीसी के यहाँ भी 20 जून को  बोनी हो गई थी।जबकि ग्राम बिरगोदा के किसानों श्री कल्याण ठाकुर,श्री कमल ठाकुर ,श्री करतार सिसोदिया ,श्री मनोहर ,गौड़ ने बताया कि मौसम विभाग और अन्य स्रोतों से मानसून के आने की जानकारी के आधार पर हमने 21 जून को ही बोनी कर दी थी, लेकिन बारिश नहीं हुई। सुमठा के किसान श्री नरेंद्र पंवार ने बताया कि बोनी के बाद गत दिनों हुई तेज बारिश के कारण  मिट्टी का कटाव होने से अंकुरण प्रभावित होगा। क्षेत्र के कई किसानों ने अब तक बोनी नहीं की है। लम्बे इंतज़ार के बाद गत दिनों हुई बारिश के बाद अब किसान सोयाबीन की बुवाई के लिए वराप आने के इंतजार कर रहे हैं।

श्री नवीन चावड़ा ,प्रबंधक,फार्म एवम बीज विकास निगम प्रक्षेत्र, बिरगोदा ने बताया कि एक हेक्टेयर में हाइब्रिड मक्का की चुपाई की जा रही है। शेष बोनी अब पर्याप्त नमी होने के बाद ही करेंगे। प्रायः देखा गया है कि सभी किसान अपने गांवों में अन्य किसानों को बुवाई करते देख खुद भी बोनी शुरू कर देते हैं ,ताकि फसल न पिछड़े। भले ही खेत में पर्याप्त नमी न हो। ऐसे में यदि बारिश की बेरुखी हो जाए तो अंकुरण कम होने और फसल के बिगड़ने का अंदेशा रहता है। कई बार दुबारा बोनी की नौबत भी आ जाती है,जिससे बीज और अन्य लागत खर्च दुगुना हो जाता है।

महत्वपूर्ण खबर: इस साल सोयाबीन की बुवाई से पहले जान लें ये 5 जरूरी बातें

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.