पोषण वाटिका महाअभियान का आयोजन

Share

18 सितम्बर 2021, जबलपुर । पोषण वाटिका महाअभियान का आयोजन – अंतर्राष्ट्रीय पोषण अनाज वर्ष 2023 के परिप्रेक्ष्य में भाकृअप के मार्गदर्शन में गत दिनों खरपतवार अनुसंधान निदेशालय , जबलपुर में  पोषण वाटिका महाअभियान का आयोजन किया गया। जिसके तहत आयोजित कृषक संगोष्ठी में महिला कृषकों को विशेषज्ञों द्वारा संतुलित पोषण पर जानकारी दी गई। इस आयोजन में जबलपुर के अलग-अलग क्षेत्रों से आए 184 महिला /पुरुष किसानों , कृषि वैज्ञानिकों और तकनीकी अधिकारियों ने भाग लिया

निदेशालय के निदेशक डॉ जे एस मिश्र ने महिला कृषकों को खाद्यान्न और पोषण अनाज की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए पोषण अनाज जैसे ज्वार , बाजरा ,कोदो ,संवा , रागी आदि का उत्पादन बढ़ाने पर ज़ोर दिया, ताकि खास तौर से महिलाओं और बच्चों को कुपोषण से मुक्ति मिल सके और स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके ,क्योंकि बच्चे और महिलाएं परिवार की धुरी है। इनके पोषण पर ही समाज का स्वास्थ्य निर्भर करता है। डॉ मिश्र ने कहा कि पोषण वाटिका सबको प्राकृतिक पोषण देगी। प्राकृतिक पोषण में पोषक तत्वों की जैविक उपलब्धता अधिक होती है। आपने दलहनी-तिलहनी  फसलों के उत्पादन , फलदार वृक्षों के अधिक से अधिक रोपण पर ज़ोर दिया।  इसके अलावा किसानों को उन्नत खरपतवार प्रबंधन की तकनीकों का उपयोग करने की सलाह दी।  

कार्यक्रम संयोजक डॉ पीके सिंह, प्रधान वैज्ञानिक ने कहा  कि आज पोषण अनाज का उत्पादन बढ़ाने तथा पोषक तत्वों से भरपूर खाद्यान्न दैनिक भोजन में शामिल करना ज़रूरी है। पौधों को मौसम के अनुसार लगाकर पोषण वाटिका के विकास के साथ पोषण के क्षेत्र में भी नवाचार करना चाहिए , जिनमें सहजन, आंवला , पपीता के पोषक तत्वों से भरपूर पेड़ों को मेड़ों पर रोपे जाने पर ज़ोर दिया।डॉ आरपी दुबे , प्रधान वैज्ञानिक ने  किसानों के साथ परिचर्चा में भाग लेकर उन्हें खाद्यान एवं पोषण अनाज की कृषि संबंधी तकनीकी जानकारी  प्रदान की और कृषकों की समस्याओं का समाधान किया।

 
Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.