देवास में पोषण आहार एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम संपन्न

Share

19 सितम्बर 2022, इंदौर: देवास में पोषण आहार एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम संपन्न – कृषि विज्ञान केन्द्र , देवास में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर पोषण अभियान एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि श्री विजय कुमार राजपूत , जनपद सदस्य,देवास एवं विशिष्ट अतिथि श्री नरपत सिंह , मंडल अध्यक्ष भाजपा, श्री पंकज सिंह राणा ,किसान मोर्चा अध्यक्ष, श्रीमती उषा गोपाल खत्री, पार्षद, वार्ड क्रमांक 19 एवं श्री कुंदन सिंह, सरपंच ,बड़ी चुरलाई थे। इस आयोजन में लगभग 130 कृषकों एवं कृषक महिलाओं ने भागीदारी कीI अतिथियों द्वारा वृक्षारोपण किया गया।

मुख्य अतिथि श्री विजय सिंह राजपूत एवं विशिष्ट अतिथि श्री पंकज राणा ने अपने विचार व्यक्त किए एवं मोटे अनाज को दैनिक जीवन में अपनाने का आग्रह कियाI केन्द्र के प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ अशोक कुमार बड़ाया ने स्वागत भाषण में कहा कि भोजन में जैव संवर्धित प्रजातियों का उपयोग करें तो, कुपोषण की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आपने कृषकों से भोजन में ज्वार, मक्का, बाजरा, कोदो, कुटकी जैसे मोटे अनाजों को शामिल करने का आह्वान किया I सस्य वैज्ञानिक डॉ महेंद्र सिंह ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से सोयाबीन, ज्वार, बाजरा, मक्का, गेहूं, चना इत्यादि फसलों की जैव संवर्धित प्रजातियों के बारे में विस्तृत जानकारी देने के अलावा आगामी रबी मौसम की मुख्य फसलें गेहूं एवं चना की उन्नतशील प्रजातियों के बारे में भी बताया।

इस आयोजन में कृषि महाविद्यालय इंदौर के वैज्ञानिक सक्सेना दम्पति भी शामिल हुए। डॉ उषा सक्सेना ने मोटे अनाजों से बनने वाले उत्पाद पोहा , मैगी , आटा इत्यादि के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों को पास्ता,पिज्जा के स्थान पर मोटे अनाजों के उत्पाद खिलाएं , ताकि कुपोषण जैसी बीमारी से बचा जा सके I वहीं डॉ मुकेश सक्सेना ने कुसुम की खेती को बढ़ावा देने के लिए लोगों को जागरूक कियाI उप संचालक कृषि श्री आर पी कनेरिया ने कहा कि एक समय देवास जिले में ज्वार, मक्का का बहुत क्षेत्रफल था ,लेकिन धीरे-धीरे दोनों फसलें क्षेत्र से गायब होती जा रही हैं। इस पर विशेष जोर देने की आवश्यकता हैI श्री एच एस परमार, मैनेजर द्वारा किसानों को मिनी किट का वितरण किया गया। उन्होंने कहा कि किसान घर के आस-पास किचन गार्डन लगाकर शुद्ध ताजा सब्जियां प्राप्त कर सकते हैंI कार्यक्रम का संचालन केन्द्र की विस्तार वैज्ञानिक श्रीमती नीरजा पटेल ने किया एवं आभार प्रदर्शन वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ के एस भार्गव द्वारा किया गया I इस आयोजन को सफल बनाने में केंद्र के वैज्ञानिक डॉ मनीष कुमार, लक्ष्मी , सविता कुमारी, विद्या भूषण मिश्रा और कृषि महाविद्यालय सीहोर के छात्रों का विशेष योगदान रहा I

महत्वपूर्ण खबर: मध्य प्रदेश में सब्सिडी पर कृषि यंत्र खरीदने के लिए 19 सितम्बर तक आवेदन दें

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.