मध्य प्रदेश : एमएसपी पर चमक विहीन गेहूँ भी खरीदा जाएगा

Share

मध्य प्रदेश : एमएसपी पर चमक विहीन गेहूँ भी खरीदा जाएगा

किसानों के खातों में 3171 करोड रुपए

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वीडियो कांफ्रेंस द्वारा राज्य में चल रहे गेहूं उपार्जन कार्य की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार से उनकी चर्चा हुई है जिसमें चमक विहीन गेहूं खरीदने की अनुमति भी प्राप्त हुई है।श्री चौहान ने कहा कि किसानों का पूरा अनाज खरीदा जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान को जानकारी दी गई कि राज्य में 40 लाख 26 हजार मीट्रिक टन गेहूं का उपार्जन समर्थन मूल्य पर किया जा चुका है। प्रदेश के 7 लाख 50 हजार किसानों से यह खरीदी की गई है।किसानों के खातों में 3171 करोड रुपए की राशि डाली जा चुकी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा किसानों को खरीदी केंद्रों पर आवश्यक सुविधाएं दी जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सौदा पत्र के माध्यम से किसानों को गेहूं बेचने की व्यवस्थाओं से अवगत करवाने के भी निर्देश दिए बैठक में बताया गया प्रदेश में करीब छह लाख मैट्रिक टन गेहूं इस व्यवस्था से खरीदा जा चुका है। इंदौर ,उज्जैन सहित लगभग 50 मंडी प्रांगण अभी बंद है और कोरोना के बड़े संकट के इस दौर में भी किसानों को काफी सुविधा प्राप्त हुई है। बैठक में जानकारी दी गई कि जहां मंडियां खुली हैं वहां तो खरीदी की पूर्ण व्यवस्थाएं हैं ही इसके अलावा किसान के घर से अनाज लेने का इंतजाम भी किया गया है। मंडियों में आने के लिए किसानों को संदेश भेजने की व्यवस्था में और सुधार किया जा रहा है। जहां अनाज लेकर आने वाले किसानों की संख्या कम है, वहां 20 के स्थान पर 30 और 40 एस एम एस भेज कर उन्हें आमंत्रित किया जा रहा है।

प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केशरी ने बताया कि भारत सरकार से बारदाना व्यवस्था के संबंध में सहयोग प्राप्त हो रहा है। राज्य में चना और सरसों की खरीदी का कार्य भी प्रारंभ होकर व्यवस्थित रूप से संचालित हो रहा है। कोरोना वायरस प्रभावित क्षेत्रों में स्थितियां सामान्य होते ही शेष किसान भी आसानी से गेहूं बेच सकेंगे, जिन्होंने अभी सौदा पत्रक व्यवस्था का लाभ नहीं लिया है।

उपार्जन कार्य के लिए टीम को बधाई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रमुख सचिव खाद्य और नागरिक आपूर्ति श्री शिव शेखर शुक्ला को गेहूं उपार्जन, परिवहन, भंडारण के कार्य को व्यवस्थित रूप से संचालित करने के लिए बधाई दी और इन कार्यों से जुड़े पूरे अमले के परिश्रम की प्रशंसा भी थी। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस वीडियो कांफ्रेंस में उपस्थित थे।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.