राज्य कृषि समाचार (State News)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने किया ‘एक पेड़ माँ के नाम’ अभियान का शुभारंभ: भारतीय संस्कृति में वृक्षों का अद्वितीय महत्व

Share

06 जुलाई 2024, भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने किया ‘एक पेड़ माँ के नाम’ अभियान का शुभारंभ: भारतीय संस्कृति में वृक्षों का अद्वितीय महत्व – मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने आज जंबूरी मैदान में ‘एक पेड़ माँ के नाम’ वृहद वृक्षारोपण अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने अपनी माताजी स्व. श्रीमती लीला बाई यादव की स्मृति में आँवले का पौधा रोपा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति में एक वृक्ष का महत्व दस पुत्रों के बराबर माना गया है। वनस्पति, नदी, पहाड़ आदि को जीवंत मानना हमारी संवेदनशील सांस्कृतिक परंपरा का प्रतीक है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर संचालित ‘एक पेड़ माँ के नाम’ अभियान के अंतर्गत प्रदेश में 5 करोड़ 50 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इंदौर में 51 लाख, भोपाल और जबलपुर जिलों में 12-12 लाख पौधे लगाए जाएंगे। जंबूरी मैदान में आज 26001 पौधे लगाए गए।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उनका स्मरण करते हुए वृक्षारोपण अभियान में विद्यार्थियों, स्वयंसेवी संस्थाओं, एनसीसी और एनएसएस की सक्रिय भागीदारी की सराहना की। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण प्रदेश में लोग वृक्षारोपण के लिए उत्साहित हैं और स्वयं पौधरोपण के लिए आगे आ रहे हैं।

भोपाल नगर निगम ने वृहद वृक्षारोपण अभियान के अंतर्गत एक लाख 20 हजार पौधे लगाने का संकल्प लिया है। महापौर श्रीमती मालती राय ने बताया कि जल गंगा अभियान के अंतर्गत भोपाल के जलाशयों से 128 डम्पर गाद निकाला गया तथा 54 बावड़ियों और 42 कुंओं का संरक्षण किया गया है।

इस अवसर पर खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री विश्वास सारंग, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती कृष्णा गौर, नगरीय विकास एवं आवास राज्य मंत्री श्रीमती प्रतिमा बागरी, पंचायत और ग्रामीण‍ विकास राज्य मंत्री श्रीमती राधा सिंह, सांसद श्री वी.डी. शर्मा, विधायक एवं पूर्व प्रोटेम स्पीकर श्री रामेश्वर शर्मा, विधायक श्री भगवान दास सबनानी, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित रहे।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements