राज्य कृषि समाचार (State News)

नरसिंहपुर जिले में 14 से 30 जून तक ‘कृषि पखवाड़ा ‘ का आयोजन होगा

Share

14 जून 2024, नरसिंहपुर: नरसिंहपुर जिले में 14 से 30 जून तक ‘कृषि पखवाड़ा ‘ का आयोजन होगा – कलेक्टर श्रीमती शीतला पटले के निर्देशन में शासन की हितग्राही मूलक योजनाओं के सुचारू रूप से संचालन एवं कृषि व कृषक हितार्थ खरीफ वर्ष- 2024 में “कृषि पखवाड़ा” कार्यक्रम का आयोजन किया जाना है। समस्त क्षेत्रीय कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा अपने- अपने सर्किल के समस्त ग्रामों में 14 जून से 30 जून 2024 तक कृषि पखवाड़ा मनाया जायेगा। उप संचालक कृषि श्री उमेश कटहरे ने बताया कि कृषि विस्तार अधिकारी सर्किल के ग्रामों  में जाकर कृषकों को उन्नत कृषि तकनीकी सलाह, मांग, समस्याएं आदि के बारे में चर्चा करेंगे।

आयोजित पखवाड़े में  कृषकों को डीएपी के स्थान पर एनपीके का उपयोग करने की सलाह व महत्व बताया जायेगा। विभागीय हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए एमपी किसान एप के उपयोग करने की सलाह दी जाएगी। साथ ही एप के संचालन में मदद करेंगे। कृषकों को अपने- अपने खेतों की मिट्टी का परीक्षण कराने के लिए प्रेरित किया जायेगा। स्वाइल हेल्थ कार्ड की अनुशंसा के अनुसार उर्वरकों के उपयोग की सलाह दी जायेगी। मिट्टी में सूक्ष्म पोषक तत्वों जैसे जिंक, सल्फर आदि के उपयोग के लिए अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जायेगा।  रासायनिक उर्वरकों के अधिक उपयोग से मृदा स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी जायेगी। किसानों को रासायनिक उर्वरकों यूरिया/ डीएपी के स्थान पर नैनो यूरिया/ नैनो डीएपी के उपयोग की सलाह दी जायेगी। बायोगैस बनवाने के लिए किसानों को प्रेरित किया जायेगा। कृषकों को खरीफ सीजन के लिए आदान सामग्रियों व बीज किस्मों की जानकारी दी जायेगी।

 खरीफ- 2024 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत कृषकों को विशेषकर अऋणी कृषकों को फसल बीमा कराने के लिए जागरूक किया जायेगा। कृषकों को कृषि क्षेत्र में बेहतर मौसम पूर्वानुसार हेतु मौसम एप को डाउनलोड कर उपयोग करने की सलाह दी जायेगी। अरहर किस्म पूसा 16 की विशेषताओं को कृषकों के मध्य साझा किया जायेगा। फसल अवशेष प्रबंधन हेतु नरवाई नहीं जलाने, उन्नत कृषि यंत्रों का उपयोग कर बोनी किए जाने के महत्व को विस्तार से बताया जायेगा। डीएसआर पद्धति से धान की बोनी की जानकारी दी जायेगी। कृषकों को किसान क्रेडिट कार्ड- केसीसी बनाने के लिए प्रेरित किया जायेगा।  किसानों से अपील की है कि वे ग्राम गोष्ठी में आवश्यक रूप से उपस्थित होकर योजनाओं का लाभ लें। यदि कृषक किसान पोर्टल पर पंजीयन नहीं करते तो योजना से वंचित हो जायेंगे। पंजीयन किसान स्वयं एमपी ऑनलाइन अथवा क्षेत्र के कृषि विस्तार अधिकारी के सहयोग से करा सकते हैं।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements