देपालपुर में 4777 किसानों का 34 करोड़ का ऋण माफ हुआ

Share this

(शैलेश ठाकुर)

देपालपुर। गत दिनों देपालपुर में जय किसा ऋण माफ़ी समारोह आयोजित किया गया । जिसमें 4777 किसानों का 34 करोड़ का ऋण माफ हुआ।इस मौके पर इंदौर जिले के प्रभारी तथा गृह मंत्री श्री बाला बच्चन, स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, कृषि मंत्री श्री सचिन यादव एवं क्षेत्रीय विधायक श्री विशाल पटेल उपस्थित थे।

समारोह में स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसी सिलावट ने कहा कि भावांतर के समय आपकी सोयाबीन क्या भाव बिकती थी और आज अन्य फसलों का भाव देख लो, दूध का भाव बढ़ा है यह फर्क है उनकी और हमारी सरकार में। श्री बाला बच्चन ने किसानों की आत्महत्या और कांग्रेस के वचन पत्र को पूरा करने का जिक्र कर कहा कि हमने देपालपुर में पहले चरण में 50 हजार तक के 10778 किसानों का कर्जा माफ किया। अब दूसरे चरण में 4777 किसानों का 34 करोड़ रुपए कर्जा माफ किया । दोनों चरणों में कुल मिलाकर देपालपुर विधानसभा में हमने 92 करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया है। तीसरे चरण में हम 1 लाख से डेढ़ लाख तक का कर्जा माफ करेंगे और चौथे चरण में डेढ़ लाख से 2 लाख का कर्जा माफ करेंगे। सभी पात्र किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ करेंगे। हितग्राही किसानों को प्रमाण पत्र वितरित किए। कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने पूर्व सरकार की विफलताओं का उल्लेख कर किसानों को रसायनों से होने वाले नुकसान के प्रति चेताते हुए अधिक से अधिक जैविक खेती करने का अनुरोध किया। देपालपुर क्षेत्र के विधायक श्री विशाल पटेल ने विकास कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि जो पात्र हैं सभी किसानों का कर्जा माफ होगा अगर कर्जा माफ नहीं होगा तो मैं आपके बीच चुनाव लडऩे नहीं आऊंगा। आपने कृषि मंत्री से देपालपुर में उच्च स्तरीय मंडी खोलने की बात कही।

विधायक श्री पटेल ने जम्बुडी हप्सी व कुछ अन्य गांवों में पानी के टैंकर दिए। आयोजन स्थल पर आईपीसी बैंक , कृषि विभाग, कृषि अभियांत्रिकी विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के स्टाल भी लगे थे।इस अवसर पर कलेक्टर श्री लोकेश जाटव, इंदौर-1 विधायक श्री संजय शुक्ला, जिला पंचायत सीईओ नेहा मीणा , एसडीएम प्रतुल सिन्हा , जनपद सीईओ राजू मेडा, कृषि यंत्री श्री पी के पाडलीकर ,इंदौर दुग्ध संघ अध्यक्ष मोती सिंह पटेल,उप संचालक कृषि श्री विजय चौरसिया, श्री आर एस तोमर ,एसएडीओ श्री भदौरिया आदि उपस्थित थे।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।