म.प्र. में कृषि यंत्रों पर अनुदान शीघ्र

Share

21 मई 2022, भोपाल । म.प्र. में कृषि यंत्रों पर अनुदान शीघ्र खरीफ सीजन की शुरुआत हो चुकी है। खेतों में खरीफ बोनी के पूर्व की गतिविधियां चालू हैं। खरीफ और रबी के मध्य लम्बे अंतराल का उपयोग किसान अपने खेतों को और अधिक उपजाऊ बनाने के लिये करता है। जिसमें प्लाऊ, रोटावेटर आदि कृषि यंत्रों की आवश्यकता होती है। सरकार इन यंत्रों की खरीद पर किसानों को अनुदान देती है। लेकिन हर वर्ष समय निकलने के बाद चालू होने वाली कृषि यंत्र अनुदान योजना अपने उद्देश्य और लक्ष्य दोनों पूरे नहीं कर पाती।

इस वर्ष भी ऐसी ही स्थिति निर्मित हो रही है। चालू वित्त वर्ष 2022-23 को प्रारम्भ लगभग दो माह हो रहे हैं लेकिन बजट आवंटन के अभाव में कृषि यंत्रों पर अनुदान की योजनाएं धरातल पर नहीं आ पा रही हैं। सूत्रों के अनुसार अभी तक केन्द्रीय वित्त पोषित योजनाओं का बजट एवं दिशा निर्देश केन्द्र से ही नहीं आये हैं। केन्द्र से बजट एवं दिशा निर्देश मिलने के बाद ही राज्य सरकार तद्अनुसार योजनाओं का क्रियान्वयन प्रारम्भ करेगी। सूत्र ने आशा व्यक्त करते हुए बताया कि राज्य स्तर योजनाओं का खाका लगभग तैयार है, केन्द्र के बजट एवं दिशा निर्देश मिलते ही योजनाओं को अमली जामा पहनाना शुरु कर दिया जायेगा। हालांकि भारतीय मौसम विभाग लगातार प्रदेश में मानसून के समय पर आने की भविष्यवाणी कर रहा है। मानसून की आमद के साथ ही खरीफ की बोनी प्रारंभ हो जायेगी। ऐसे में किसानों को कृषि यंत्रों पर अनुदान योजना केवल सरकारी कसरत बन कर ही रह जायेगा।

प्रकृति और सरकार पर आश्रित किसान हमेशा आशा के बीज ही बोता आया है। फल मिला तो बढिय़ा नहीं तो एक और आशा की किरण के साथ नई शुरुआत।

महत्वपूर्ण खबर: देश में सवा लाख टन से अधिक शहद उत्पादन हो रहा है -कृषि मंत्री श्री तोमर

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.