किसानों से 4 करोड़ की धोखाधड़ी, मंडी बोर्ड के संयुक्त संचालक को ज्ञापन सौंपा

Share

18 जून 2021, इंदौरकिसानों से 4 करोड़ की धोखाधड़ी, मंडी बोर्ड के संयुक्त संचालक को ज्ञापन सौंपा – पिछले कुछ अर्से से प्रदेश में मंडी व्यापारियों द्वारा किसानों की उपज खरीदने के बाद उन्हें भुगतान नहीं करके फरार होने की घटनाएं ज्यादा प्रकाश में आ रही है। ताज़ा मामला खरगोन जिले की सनावद मंडी का है , जहां एक व्यापारी द्वारा मंडी प्रांगण में करीब 200 किसानों से डॉलर चना और मूंग की खरीदी की , लेकिन किसानों के 4 करोड़ रूपये का भुगतान किए बगैर फरार हो गया । किसानों को अतिशीघ्र भुगतान करने की मांग को लेकर गत दिनों भारतीय किसान मजदूर सेना ने संयुक्त संचालक ,मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड , आंचलिक कार्यालय , इंदौर को ज्ञापन सौंपा।

भारतीय किसान मजदूर सेना के प्रदेशाध्यक्ष  श्री बबलू जाधव ने कृषक जगत को बताया कि अथर्व इंटरप्राइजेस , सनावद के मालिक अखिलेश पटेल द्वारा मंडी प्रांगण में करीब 200  किसानों से डॉलर चना, मूंग आदि फसल की क्विंटलों से खरीदी की , लेकिन किसानों का 4 करोड़ का भुगतान किए बगैर फरार हो गया। कहा जा रहा है कि पिछले वर्ष भी इस फर्म ने बड़ी मुश्किल से किसानों का भुगतान किया था , ऐसे में चूककर्ता व्यापारी को फिर से मंडी में खरीदी की अनुमति किस आधार पर दी गई यह विचारणीय है।

मंडी अधिकारियों पर व्यापारी से सांठगांठ के भी आरोप  लग रहे हैं , क्योंकि नियमानुसार किसानों को दो लाख तक का भुगतान नकद किए जाने का प्रावधान है।  गत दिनों आक्रोशित किसानों ने मंडी सचिव के ऑफिस में ताला लगा दिया और इंदौर -इच्छापुर रोड़ पर आधे घंटे चक्काजाम किया । इसके बाद अधिकारियों ने दस दिन में भुगतान का आश्वासन दिया। लेकिन भुगतान अब भी लंबित है। इसीलिए हमारे किसान संगठन ने कल श्री चंद्रशेखर वशिष्ठ,संयुक्त संचालक ,मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड , आंचलिक कार्यालय , इंदौर को ज्ञापन सौंपकर किसानों को अतिशीघ्र भुगतान करने और दोषी अधिकारी /कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गई है , अन्यथा विवश होकर आंदोलन करना पड़ेगा।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.