कपास खरीदी से किसान असंतुष्ट, सीसीआई का नियम पालन का दावा

Share

26 नवम्बर 2020, इंदौर। कपास खरीदी से किसान असंतुष्ट, सीसीआई का नियम पालन का दावा एक ओर भारतीय कपास निगम (सीसीआई ) द्वारा कपास की खरीदी जारी है , वहीं दूसरी ओर किसान सीसीआई की खरीदी व्यवस्था से संतुष्ट नहीं है l कई किसानों ने उनके कपास में कमी बताकर खरीदी नहीं करने की शिकायत कर सीसीआई अधिकारियों और व्यापारियों के बीच सांठ -गांठ होने के आरोप भी लगाए हैं l वहीं दूसरी ओर सीसीआई के महाप्रबंधक ने इसका खंडन करते हुए नियमानुसार खरीदी करने की बात कही है l

बता दें कि सीसीआई द्वारा प्रति वर्ष कपास की खरीदी की जाती है l इस वर्ष भी संभाग में 19 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं , जहां किसान अपनी कपास की उपज निर्धारित मापदंडों की होने पर सीसीआई को बेच सकता है l उधर, सनावद क्षेत्र के किसानों ने सीसीआई पर उनका कपास नहीं खरीदने के आरोप लगाए हैं l किसान श्री विक्रम मंडलोई ग्राम मर्दाना का कहना है कि कपास की 100 गाड़ी में से करीब 20 गाड़ी कपास ही सीसीआई द्वारा खरीदा जा रहा है , शेष 80 गाड़ी कपास वाले किसानों के माल में कोई न कोई कमी बताकर खरीदने से इंकार किया जा रहा है l बता दें कि इसे लेकर सनावद और भीकनगांव मंडी में किसान पूर्व में हंगामा भी कर चुके हैं l इस कारण कुछ घंटे कपास की खरीदी भी बंद रही थी l प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइश पर खरीदी फिर शुरू हो सकी थी l किसान तो सीसीआई अधिकारियों और व्यापारियों के बीच सांठ -गांठ होने के आरोप भी लगा चुके हैं l

इस बारे में सीसीआई के महाप्रबन्धक श्री मनोज बजाज (इंदौर) ने कृषक जगत को बताया कि कल मंगलवार तक 7 लाख 2 हजार क्विंटल कपास की खरीदी की जा चुकी है l भारत सरकार के मापदंडों के अनुसार सीसीआई द्वारा 8 -12 % नमी के साथ एफएक्यू वाला कपास खरीदा जाता है l जब कृषक जगत ने खरगोन जिले के सनावद में सीसीआई द्वारा किसानों का कपास नहीं खरीदने की शिकायत की तो श्री बजाज ने अनभिज्ञता ज़ाहिर करते हुए कहा कि सीसीआई द्वारा निर्धारित मापदंडों का पालन करके ही खरीदी की जाती है l कपास की नमी जांचने के लिए उपकरण भी दिए गए हैं , जिनका इस्तेमाल होते देखा जा सकता है l यदि किसी किसान को कोई शिकायत है तो वह अपने नाम , मोबाईल नंबर, गाड़ी नंबर (जिसमें कपास लाया) और मंडी में आने की तारीख के साथ मुझे शिकायत करें l संबंधित मंडी में इसके विवरण का रजिस्टर रखा जाता है l मंडी सचिव से पुष्टि के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी l किसान अपनी शिकायत महाप्रबंधक, भारतीय कपास निगम, कपास भवन ,रेसकोर्स रोड़, इंदौर स्थित कार्यालय में व्यक्तिगत मिलकर या फोन नंबर 0731 – 2532703 पर कर सकते हैं l

महत्वपूर्ण खबर : किसानों की आय को बढ़ाने में मददगार होगी पराली

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.