छात्रों के सर्वांगीण विकास में बाधक परीक्षा प्रणाली

Share

जनेकृषि विवि में प्रशिक्षण

15 मार्च 2022, जबलपुर ।  छात्रों के सर्वांगीण विकास में बाधक परीक्षा प्रणाली ‘‘छात्रों का सर्वांगीण विकास’’ विषय पर जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय में 21 दिवसीय प्रशिक्षण एवं कार्यशाला के उद्घाटन अवसर पर कुलपति डॉं. प्रदीप कुमार बिसेन ने कहा कि राष्ट्रधर्म का अनुपालन करें। राष्ट्र और समाज को सदैव देने का भाव रखें। जीवन में आत्मबल और आत्म विश्वास ऊंचा रखे। भारतीय संस्कृति में सन्नित त्याग, नैतिकता और ठोस चरित्र को जीवन में उतारें और सदा सकारात्मक रहें, तो पूरी कयानत आपके कदम चूमकर अपार सफलताओं के द्वार खोल देगी।

आयोजन के मुख्यवक्ता, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद् अवार्डी अधिष्ठाता कृषि संकाय डॉ. धीरेन्द्र खरे ने व्याख्यान में कहा काबिल होने के लिये शिक्षक से ज्ञान को छीनना होगा। ये फीस देने वाले छात्र का हक है। शिक्षक से सवाल जवाब जरूर करें, जब तक समझ ना आये बार-बार पूछें। शिक्षक के ज्ञान का पूर्ण लाभ लें। छात्रों की निष्क्रियता एक विद्वान शिक्षक को भी निष्क्रिय कर देती है।

मुख्य आयोजक अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉं. अमित कुमार शर्मा ने बताया कि शिक्षा के साथ छात्रों को दीक्षित करने और उनके सर्वांगीण विकास के लिये यह 21 दिनी आयोजन रखा गया है। इसमें हर दिन राष्ट्रीय और अन्र्तराष्ट्रीय स्तर के विविध क्षेत्रों के विद्धतजन व्याख्यान के साथ छात्रों का मार्गदर्शन करेंगे।

इस मौके पर कृषि एवं कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय जबलपुर के छात्र-छात्राओं से विवेकानन्द सभागार भरा था। जबकि जनेकृविवि से संबंद्ध अन्य कृषि महाविद्यालय, रीवा, टीकमगढ़, गंजबसौदा, वारासिवनी (बालाघाट), पवारखेड़ा (होशंगाबाद), रहली (सागर) एवं खुरई (सागर) के सैकड़ों छात्र-छात्रायें ऑनलाईन जुड़े।

महत्वपूर्ण खबर: संरक्षित खेती व पालीहाउस प्रबंधन पर प्रशिक्षण का आयोजन

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.