राज्य कृषि समाचार (State News)

मध्यप्रदेश में कृषि के लिए ड्रोन नीति बनाई जाएगी – मुख्यमंत्री डॉ. यादव

Share

22 जून 2024, भोपाल: मध्यप्रदेश में कृषि के लिए ड्रोन नीति बनाई जाएगी – मुख्यमंत्री डॉ. यादव – मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि प्रदेश में ड्रोन नीति बनाई जाएगी, जिससे कृषि के क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे और किसानों को आधुनिक तकनीक का लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि विमानन, कृषि और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) के क्षेत्रों में बढ़ते रोजगार के अवसरों को देखते हुए, इन विषयों के अध्यापन की बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएंगी।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि प्रदेश के सभी 55 जिलों में 1 जुलाई से पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस का शुभारंभ समारोहपूर्वक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता और बेहतर प्रबंधन पर सतत ध्यान दिया जाना आवश्यक है। उच्च शिक्षा संस्थानों में आवश्यक अधोसंरचनात्मक विकास के लिए राज्य शासन द्वारा पूर्ण सहयोग दिया जाएगा।

श्री यादव ने बताया कि प्रदेश में उत्कृष्ट महाविद्यालय प्रारंभ हो रहे हैं, जो प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था का चेहरा बनेंगे। उच्च शिक्षा, उद्योग, कृषि और अन्य संबंधित विभागों में ड्रोन के उपयोग और प्रशिक्षण के संबंध में रणनीति बनाकर कार्य किया जाएगा। इससे न केवल प्रदेश के युवाओं को रोजगार मिलेगा, बल्कि कृषि क्षेत्र में भी तकनीकी उन्नति संभव होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि कृषि और अन्य संबंधित क्षेत्रों में रोजगार परक शिक्षा को प्रोत्साहन मिले और निवेश भी आकर्षित हो। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पीएम कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस में भारतीय ज्ञान परंपरा केंद्र भी खुलेगा, जिसके लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जाएंगी।

इस वर्ष प्रदेश के सभी जिलों में प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना का निर्णय लिया गया है। राज्य सरकार द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत प्रदेश के सभी जिलों में एक-एक प्रधानमंत्री कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस स्थापित करने की स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। इन महाविद्यालयों में कृषि सहित अन्य उपयोगी पाठ्यक्रम भी शुरू किए जाएंगे, जिससे विद्यार्थियों को व्यवस्थित रूप से जानकारी प्रदान की जा सके।

बैठक में मुख्य सचिव श्रीमती वीरा राणा, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री कार्यालय डॉ. राजेश राजौरा और अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements