राज्य कृषि समाचार (State News)

झाबुआ जिले में उर्वरक विक्रय दर सूची का प्रदर्शन एवं कन्ट्रोल रूम की स्थापना

Share

26 अक्टूबर 2022, झाबुआ: झाबुआ जिले में उर्वरक विक्रय दर सूची का प्रदर्शन एवं कन्ट्रोल रूम की स्थापना – जिले में 2022 हेतु उर्वरक की उपलब्धता की जिला कलेक्टर श्रीमती रजनी सिंह के मार्गदर्शन ने उप संचालक किसान कल्याण या कृषि विकास जिला झाबुआ श्री एन.एस.रावत के द्वारा समीक्षा की गई । जिले में रबी 2022 हेतु उर्वरकों की उपलब्धता में यूरिया की 4500 टन डीएपी 2037 मे टन एम 3351307 सिंगल सुपर फॉस्फेट में सहकारी समितियों में गत वर्ष की खपत के अनुसार उर्वरकों के समुचित निर्धारण के निर्देश दिये गये, ताकि कृषकों का रबी फसलों के लिये उर्वरकों की खरीदी करने में किसी प्रकार की परेशानी न उठानी पड़े।

जिले के समस्त उर्वरक निरीक्षकों को निर्देश दिये गये कि उर्वरक विक्रय केन्द्रों से उर्वरकों की विक्रय दर एवं उस दिनांक का उर्वरकों का एक बोर्ड स्पष्ट एवं सहज दृश्य स्थल पर प्रदर्शित करें, ताकि विक्रय दर के अनुसार उर्वरक कम कर सके। इसके लिए उर्वरक निरीक्षक एवं वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी को तीन दिवस में उर्वरक विक्रेता का विक्रय दर प्रदर्शन बोर्ड के साथ फोटो की पी.डी.एफ. फाईल बना कर भेजने , उर्वरक विक्रेताओं के पास उपलब्ध पी.ओ.एस. मशीन से उपलब्ध उर्वरकों का मिलान एवं समीक्षा कर साप्ताहिक रिपोर्ट देने , विक्रेता के पास यदि क्षेत्र की आवश्यकता से अधिक उर्वरक भण्डारित किया गया है, तो ऐसे विक्रेता को चिन्हांकित कर नियमित तौर पर उर्वरक वितरण करने के निर्देश दिये गये।

उर्वरकों की काला बाजारी/अवैध भण्डारण/अवैध परिवहन करने वाले उर्वरक विक्रेताओं के विरूद्ध वैधानिक दंडात्मक कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये गये। जिले में रबी 2022 हेतु उर्वरकों की उपलब्धता के सम्बन्ध में आने वाली किसी भी समस्या के निराकरण हेतु कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 07392-244241 है। कृषक दिये गये नंबर पर सूचना का आदान प्रदान कर सकेंगे।

महत्वपूर्ण खबर: पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के लिए अधिक उपज देने वाली गेहूं की 10 नई किस्में

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *