राज्य कृषि समाचार (State News)

विदिशा में सहकारिता मंत्री ने श्रीअन्न प्रदर्शनी का अवलोकन किया

Share

22 जून 2024, विदिशा: विदिशा में सहकारिता मंत्री ने श्रीअन्न प्रदर्शनी का अवलोकन किया – सहकारिता, खेल युवक कल्याण मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने  शुक्रवार को  विदिशा जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में श्री अन्न प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ किया और कार्यक्रम स्थल पर लगाई गई  प्रदर्शनी  का भी अवलोकन किया। इस अवसर पर विदिशा विधायक श्री मुकेश टंडन और अन्य जनप्रतिनिधि, कलेक्टर श्री बुद्धेश कुमार वैद्य पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

श्रीअन्न से निर्मित उत्पादों की मांग में वृद्धि – प्रदेश के पारंपरिक कृषि उत्पादों में श्रीअन्न का विशेष स्थान रहा है। प्रचुर मात्रा में पोषक तत्वों से युक्त एवं ग्लूटेन मुक्त होने से श्रीअन्न के प्रति वैश्विक रुझान उत्पन्न हुआ है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय मिलेट वर्ष घोषित किया गया । राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों  में श्रीअन्न से निर्मित उत्पादों की मांग में सतत वृद्धि से प्रदेश के किसानों की आय में  वृद्धि  एवं श्रीअन्न के विपणन क्षेत्र में विकास की अपार संभावनाएँ परिलक्षित हो रही है। प्रदेश में श्रीअन्न उत्पादन में संलग्न कृषकों, समूह को राज्य स्तरीय महासंघ के रूप में संगठित कर नवीन  तकनीक  के उपयोग से श्रीअन्न विशेष कर कोदो कुटकी एवं उसके प्रसंसकृत उत्पादों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान स्थापित कराने के उद्देश्य  से रानी दुर्गावती श्रीअन्न प्रोत्साहन योजना तैयार की गई  है।

मिलेट्स के प्रकार -आजकल स्वास्थ्य मुख्य मुद्दा बन चुका है, और यह सभी के लिए महत्वपूर्ण है। अच्छे स्वास्थ्य का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है आपका आहार। मिलेट्स एक प्रकार के अनाज होते हैं जो कि गेहूं, चावल, और जौ के समान होते हैं, लेकिन इनमें अन्य अनौपचारिक अनाजों के मुकाबले अधिक पोषण और स्वास्थ्य लाभ होते हैं। विशेष रूप से भारतीय उपमहाद्वीप में मिलेट्स की कृषि बड़े पैमाने पर की जाती है, और यहाँ पर इसके कई प्रकार होते हैं, जैसे कि ज्वार, बाजरा, रागी, और फूड मिलेट्स आदि।

ज्वार – यह फाइबर और प्रोटीन का अच्छा स्रोत होता है और यह ग्लूटेन-फ्री होता है, जिससे ग्लूटेन एलर्जी वाले लोग भी इसे सेवन कर सकते हैं।

बाजरा – यह विटामिन बी, फोलेट, और एंटीऑक्सीडेंट्स का अच्छा स्रोत होता है।

 रागी – यह उच्च प्रोटीन और कैल्शियम का स्रोत होता है। डोसा, इडली, और रोटी के रूप में बनाया जाता है।

कुटकी – कुटकी कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से लेकर डायबिटीज को कंट्रोल करने में बहुत ही असरदार है। इसमें मुख्य रूप से कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन की मात्रा भी अधिक होती है

 कोदो –  कोदो के दानों में कैंसर मधुमेह और पेट के रोग दूर करने की शक्ति है ही, इसमें मौजूद प्रोटीन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट शरीर को हेल्दी रखने में मदद करते है।

मिलेट्स के स्वास्थ्य लाभ-

पौष्टिकता-  मिलेट्स अनौपचारिक अनाजों में विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन, और फाइबर का अच्छा स्रोत होते हैं। ये हमारे शरीर को सभी महत्वपूर्ण पोषण तत्वों के लिए आवश्यक होते हैं और स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।

वजन नियंत्रण-   मिलेट्स का सेवन करने से वजन को नियंत्रित किया जा सकता है क्योंकि इनमें फाइबर होता है जो भूख को कम करता है और लाइपिड्स की अवबद्धि में मदद करता है।

दिल के स्वास्थ्य –   मिलेट्स में गैलेक्सी ऑफ एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इनमें सॉरगेट कम लिपिड और कोलेस्ट्रॉल की भारी मात्रा में पाया जाता है, जिससे दिल की बीमारियों की रिस्क कम होता है।

मधुमेह प्रबंधन-  मिलेट्स ग्लूकोज की स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं और मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

कैंसर प्रतिरोधक– बाजरे में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर के खिलाफ लड़ाई में मदद कर सकते हैं।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements