State News (राज्य कृषि समाचार)

भाखड़ा सिंचाई परियोजना में पक्के खालों का निर्माण तीन वर्षों में पूरा कर लिया जाएगा

Share

09 मार्च 2023, जयपुर: भाखड़ा सिंचाई परियोजना में पक्के खालों का निर्माण तीन वर्षों में पूरा कर लिया जाएगा – सिंचित क्षेत्र विकास मंत्री श्री शाले मोहम्मद ने विधानसभा में कहा कि भाखड़ा सिंचाई परियोजना में प्रथम चरण में जिन पक्के खालों का निर्माण अधूरा रह गया था उन्हें राज्य सरकार अपने बजट से पूरा कराएगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने राज्य बजट 2023-24 में श्रीगंगानगर एवं हनुमानगढ़ जिलों में 1 लाख 32 हजार हैक्टेयर कमांड क्षेत्र में 463 करोड़ रूपए की लागत से पक्के खाला निर्माण की घोषणा की है।

सिंचित क्षेत्र विकास मंत्री प्रश्नकाल के दौरान सदस्य द्वारा इस संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने बताया कि इन कार्यों की डीपीआर बनाने का काम शुरू हो गया है। आगामी तीन वर्षों में खाला निर्माण के कार्यों को अवश्य पूरा कर लिया जाएगा।

इससे पहले विधायक श्री गुरदीप सिंह के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में श्री मोहम्मद ने अवगत कराया कि संगरिया विधानसभा क्षेत्र में भाखड़ा नहर परियोजना के अंतर्गत 85955.56 हैक्टेयर कमाण्ड क्षेत्र में कुल 315 पक्के खालों का निर्माण किया जाना था, जिसमें से अब तक 46 चकों के 12479.31 हैक्टेयर कमाण्ड क्षेत्र में वर्ष 2019-20 तक पक्का खाला निर्माण कार्य किया जा चुका है।

उन्होंने बताया कि शेष रहे 269 चकों सीसीए 73476 हैक्टेयर कमाण्ड क्षेत्र में पक्का खाला निर्माण वर्ष 2023-24 में  करवाया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि संगरिया विधानसभा क्षेत्र में इन्दिरा गांधी नहर परियोजना के अन्तर्गत 14111 हैक्टयर में 97 खालों का निर्माण वर्ष 2010 से पूर्व किया गया था। उन्होंने कहा कि इनमें से जर्जर हो चुके खालों में से प्रथम चरण में 49 चकों जिनका सीसीए 6379.95 हैक्टेयर है को वर्ष 2023-24 की बजट घोषणा के अन्तर्गत पुनर्निर्माण किया जाना प्रस्तावित है।

महत्वपूर्ण खबर: मौजूदा गेहूं खरीद सीजन में किसानो को क्या रेट मिलने की उम्मीद करनी चाहिए ?

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *