बैंकर्स योजनाओं का लक्ष्य समय-सीमा में पूरा करें : श्री चौहान

Share

राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक आयोजित

28 दिसंबर 2021, भोपाल । बैंकर्स योजनाओं का लक्ष्य समय-सीमा में पूरा करें : श्री चौहान – मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बैंकर्स स्व-रोजगार योजनाओं का लक्ष्य समय-सीमा में पूरा करें। भारत सरकार की स्व-रोजगार योजनाओं के क्रियान्वयन में जिम्मेदारी से कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री शेलेन्द्र सिंह, प्रमुख सचिव वित्त श्री मनोज गोविल, एसएलबीसी के संयोजक तथा फील्ड महाप्रबंधक सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया के श्री एस.डी. महुरकर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं बैंकर्स उपस्थित थे।

श्री चौहान ने कहा कि रोजगार सबसे बड़ी प्राथमिकता है। विशेष रूप से स्व-रोजगार योजनाओं का प्रथमिकता से क्रियान्वयन करें। आगामी 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जी की जयंती पर राज्य स्तरीय स्व-रोजगार मेले का आयोजन किया जाए। जिला स्तर पर भी शिविर आयोजित किए जाएँ। उन्होंने कहा कि विगत 9 नवम्बर से 26 नवम्बर तक 117 क्रेडिट कैंप आयोजित कर 51 करोड़ रूपये के मुद्रा ऋण स्वीकृत किए गए। इसी तरह प्रगति बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास जारी रखें। मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना में 5 लाख हितग्राहियों को लाभ पहुँचाने का लक्ष्य है। अभी तक लगभग 2 लाख 82 हजार प्रकरणों में ऋण स्वीकृति जारी की गई है।

श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में प्रगति अच्छी है। राष्ट्रीयकृत बैंकों ने अच्छा कार्य किया है। इस योजना में हम देश में अव्वल हैं। योजनांतर्गत लक्ष्य की 115 प्रतिशत उपलब्धि हासिल की गई है। भारत सरकार द्वारा 4.05 लाख का लक्ष्य दिया गया था। उन्होंने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में बैंकों से लक्ष्य पूरा करने में सहयोग करने को कहा।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में 7022 परियोजनाओं एवं 211 करोड़ मार्जिन मनी स्वीकृति का लक्ष्य है । मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया कि प्राइवेट बैंक हर सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में पीछे हैं। वे अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन ठीक ढंग से करें।

श्री चौहान ने सीएम हेल्पलाइन में बैंकों की शिकायतों के आने को बैंकों की प्रतिष्ठा के विरुद्ध बताया। ऐसी स्थिति बनायें कि शिकायत का समय पर संतुष्टि के साथ निराकरण हो। श्री चौहान ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट लेवल कमेटी एवं राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठकें हर महीने हों।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.