चारा परिवहन में सावधानी की दरकार

Share

13 अक्टूबर 2020, इंदौर। चारा परिवहन में सावधानी की दरकार – इन दिनों प्रायः सभी जगह किसान खरीफ फसल की कटाई के बाद रबी फसल की तैयारियों में लगे हैं .खेतों से मक्का और सोयाबीन फसल के चारे का परिवहन किया जा रहा है. जिसके लिए प्रायः ट्रैक्टर -ट्रॉली का उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह अधिकांश किसानों के पास है या आसानी से उपलब्ध हो जाती है.लेकिन चूँकि ट्रॉली की ऊंचाई कम रहती है , इसलिए चारा भरते समय सावधानी की दरकार है , अन्यथा आगजनी या अन्य कोई दुर्घटना होने का अंदेशा रहता है.

महत्वपूर्ण खबर : स्कॉलरशिप के लिये आवेदन 31 अक्टूबर तक ऑनलाइन आमंत्रित

प्रस्तुत वीडियो किसी ग्रामीण क्षेत्र का है , जहां ट्रॉली में मक्का का चारा क्षमता से ज्यादा भरा हुआ था , जो बिजली के तारों के सम्पर्क में आ गया और मक्के के चारे में आग लग गई .ट्रैक्टर चालक ने बचाव के तौर पर ट्रैक्टर को घटनास्थल से आगे बढ़ाया , तो जला हुआ चारा नीचे गिर गया और दो पहिया वाहन सहित मोहल्ला आग की चपेट में आ गया. किसान भाई इस घटना से सबक सीखें और ट्रॉली में चारा क्षमता अनुसार ही भरें और जहां बिजली के तार नीचे हैं , वहां से वाहन सावधानीपूर्वक निकालें . इसीसे आगजनी की घटनाओं को रोका जा सकता है.

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *