राज्य कृषि समाचार (State News)

बावनगजा में गौशाला निर्माण हेतु पशुपालन मंत्री ने किया भूमिपूजन

Share

28 अक्टूबर 2022, बड़वानी: बावनगजा में गौशाला निर्माण हेतु पशुपालन मंत्री ने किया भूमिपूजन – गौ माता हम सबकी माता है, और हमें इसकी रक्षा करनी चाहिये । गाय जब तक दुधारू होती है तब तक तो पशुपालक उसे पालते हैं , लेकिन जब वह दूध देना बंद कर देती है तो उसे खुले में छोड़ देते हैं या कटने के लिये भेज देते हैं । हमें गौमाता को कटने से बचाना है । गौमाता इधर-उधर न घूमे इसलिये बावनगजा सिद्ध क्षेत्र में गौ शाला का निर्माण किया जा रहा है। प्रदेश के पशुपालन मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल ने गुरूवार को बावनगजा में जन सहयोग से बनने वाली गौशाला का भूूमिपूजन करते हुए उक्त बाते कही ।

इस दौरान कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने कहा कि किसी भी कार्य को सच्चे मन से किया जाये तो वह जरूर पूर्ण होता है और गौमाता की रक्षा के लिये बनने वाली यह गौशाला जरूर ही अपनी सार्थकता सिद्ध करेगी । जो पशुपालक अपनी गाय को पालना नहीं चाहते वे अपनी गायों को इधर-उधर न छोड़ें ,बल्कि उन्हें अपने ग्राम या शहर की नजदीकी किसी भी गौशाला में छोड़ दें । भूमि पूजन कार्यक्रम में उपस्थित जैन मुनि श्री संधान सागर जी ने कहा कि इस गांव और गांव वासियों का सौभाग्य है कि गौमाता के लिए गौशाला का निर्माण होने जा रहा है, जिसके माध्यम से आप राष्ट्र का निर्माण में सहयोग करेंगे और गौ माता की रक्षा कर सकेंगे । मुनि श्री दुर्लभ सागर जी ने कहा कि अपनी चिंता तो सब करते हैं पर अन्य की चिंता कोई नही करता। जीव को और आवारा पशुओं को बचाने की अपेक्षा से यह गौशाला बन रही है, जीव मात्र को बचाने का संकल्प लोगे तो इस गांव और क्षेत्र का बहुत विकास होगा। ब्रह्मचारी श्री अंकुर भैया ने मांगलिक क्रिया करवा के आचार्य श्री विद्यासागर जी के चित्र पर दीपक प्रज्वलित, चित्र अनावरण कर भूमि पूजन करवाया।

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री बलवंतसिंह पटेल, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एसके जैन, वन विभाग के एसडीओ श्री केएस मुवेल, ट्रस्ट के कार्याध्यक्ष श्री शेखर पाटनी, श्री विनोद दोशी, ग्राम के सरपंच श्री दीपक भावरे, चातुर्मास समिति संयोजक, उपाध्यक्ष श्री जितेंद्र गोधा, श्री धर्मेंद्र जैन ट्रस्टी, श्री मनीष जैन मीडिया प्रभारी, श्री प्रदीप कासलीवाल दयोदय गौशाला के ट्रस्टी ,ट्रस्ट प्रबंधक इंद्रजीत सिंह मंडलोई, अरिहंत अजमेरा, गौरव काला और जैन समाज के महिला पुरुष उपस्थित थे।

महत्वपूर्ण खबर: पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के लिए अधिक उपज देने वाली गेहूं की 10 नई किस्में

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *