6 करोड़ हेक्टेयर तक पहुंची खरीफ फसलों की बुवाई

Share

16 जुलाई 2022, नई दिल्ली: 6 करोड़ हेक्टेयर तक पहुंची खरीफ फसलों की बुवाई – इस वर्ष मानसून शुरु होते ही झमाझम वर्षा और अब सावनी महीने में रुक-रुक कर भरपूर वर्षा का दौर पूरे देश में जारी है। खरीफ फसलों की बुवाई भी आशा के अनुरूप चल रही है। कृषि मंत्रालय नई दिल्ली से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक 15 जुलाई तक 592.11 लाख हेक्टेयर में बुवाई हो चुकी है, जो इसी अवधि में गत वर्ष (2021 में 591.30 लाख हेक्टेयर) की तुलना में 81 हजार हेक्टेयर ज्यादा है। वैसे खरीफ का कुल सामान्य क्षेत्रफल 1084.97 लाख हेक्टेयर है याने लगभग 60 प्रतिशत बुवाई हो चुकी है।

धान की बुवाई

वहीं मुख्य फसल धान का रकबा गत वर्ष की तुलना में पीछे चल रहा है। धान की बुवाई अभी तक केवल 128.50 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 155.53 लाख हेक्टेयर में रोपाई हो चुकी थी। इस प्रकार गत वर्ष की तुलना में 27 लाख हेक्टेयर में रोपाई नहीं हो पाई है। यूपी, बिहार, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, मध्य प्रदेश भी धान बुवाई में पिछड़ गए हैं। कृषि मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक देश के प्रमुख धान राज्यों में वर्षा कम होने के कारण धान की रोपाई कम हो पाई है। फलस्वरूप इस वर्ष धान उत्पादन भी कम होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। धान का सामान्य क्षेत्र 397.06 लाख हेक्टेयर है। वहीं कृषि मंत्रालय द्वारा इस वर्ष लक्ष्य 413.13 लाख हेक्टेयर रखा गया है।

दलहनी फसलें

15 जुलाई तक की रिपोर्ट के मुताबिक दलहनी फसलों की बुवाई 72.66 लाख हेक्टेयर पहुंच चुकी है, जो गत वर्ष (2021 में 66.69) की तुलना में इसी अवधि में 5.97 लाख हेक्टेयर अधिक है। वैसे खरीफ में दलहनी फसलों का कुल रकबा 140.18 लाख हेक्टेयर होता है। खरीफ की प्रमुख दलहनी फसल अरहर की कम बुवाई के आंकड़े चिंता का विषय है। अरहर की बुवाई अभी तक 25.81 लाख हेक्टेयर में हुई जबकि गत वर्ष इसी अवधि में 31.58 लाख हेक्टेयर में हो गई थी। वहीं मूंग बुवाई 20.19 लाख हेक्टेयर छूकर गत वर्ष के 15.85 लाख हेक्टेयर को पार कर गई है। खरीफ की अन्य प्रमुख फसलों में बाजरा, मूंगफली, कपास की बुवाई संतोषप्रद है। राजस्थान की प्रमुख खरीफ फसल बाजरा की बुवाई राजस्थान में 25 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है।

सोयाबीन

मध्यप्रदेश की प्रमुख तिलहनी और नकदी फसल सोयाबीन की बुवाई सेंट्रल इंडिया में पर्याप्त वर्षा के कारण गत वर्ष की तुलना में आगे है और 1 करोड़ हेक्टेयर का आंकड़ा स्पर्श कर रही है। वैसे इसका देश में सामान्य क्षेत्रफल 115.51 लाख हेक्टेयर है और 15 जुलाई तक 99.35 लाख हेक्टेयर पार कर चुकी है।

देश में खरीफ फसलों की बुवाई (15 जुलाई 2022 की स्थिति)

क्षेत्र : लाख हेक्टेयर

फसल सामान्य क्षेत्र    बुवाई क्षेत्र 2022   बुवाई क्षेत्र 2021वर्ष 2021 की तुलना में कम/ज्यादा
धान397.06128.5155.53-27.03
दलहन140.1872.6666.695.97
अरहर47.1725.8131.58-5.76
उड़द38.9418.0615.672.39
मूंग35.6120.1915.854.34
बाजरा73.4334.4620.8813.57
रागी10.490.270.51-0.24
मक्का74.6849.956.69-6.78
तिलहन184.11134.04124.839.21
मूंगफली44.3728.8929.72-0.83
सोयाबीन115.5199.3590.329.03
तिल12.64.223.580.64
रामतिल1.720.050.08-0.03
गन्ना47.3853.3153.7-0.39
कपास125.57102.896.586.22
कुल क्षेत्रफल1084.97592.11  591.30.81 
देश में खरीफ फसलों की बुवाई (15 जुलाई 2022 की स्थिति)

नोट : कुल क्षेत्रफल के आंकड़े चार्ट से अलग है, क्योंकि सभी फसलों को चार्ट में शामिल नहीं किया गया है।

महत्वपूर्ण खबर: प्राकृतिक खेती, डिजिटल कृषि, फसल बीमा, एफपीओ पर ध्यान देंगे राज्य: राष्ट्रीय सम्मेलन बेंगलुरु

             

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.