देश में धान उत्पादन  50 लाख टन कम होने की सम्भावना

Share

10 सितम्बर 2022, नईदिल्ली । देश में धान उत्पादन  50 लाख टन कम होने की सम्भावना  देश में खरीफ सीजन 2022 के लिए धान के रकबे और उत्पादन में संभावित कमी लगभग 6 प्रतिशत है। 2021 में खरीफ के लिए अंतिम रकबा 403.58 लाख हेक्टेयर था। कृषि मंत्रालय से प्राप्त जानकारी अनुसार अभी तक 325.39 लाख हेक्टेयर का रकबा कवर किया जा चुका है। घरेलू उत्पादन में, 60-70 एलएमटी अनुमानित उत्पादन कमी का अनुमान है लेकिन कुछ क्षेत्रों में अच्छी मानसून वर्षा के कारण, उत्पादन हानि घट कर 40-50 एलएमटी तक सीमित रह सकती है।

चावल की घरेलू कीमतों में वृद्धि का रुझान दिखाई दे रहा है और धान के लगभग 10 एमएमटी कम उत्पादन के अनुमान और पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में गैर बासमती के निर्यात में 11 प्रतिशत की वृद्धि के कारण इसमें तेजी जारी रह सकती है। तथापि, पिछले वर्ष के 212 एलएमटी के निर्यात के साथ, ऐसा कहा जा सकता है कि भारत अभी भी चावल उत्पादन में अधिशेष है।

 

महत्वपूर्ण खबर: सोयाबीन संस्थान की 25 वीं अनुसंधान सलाहकार समिति की बैठक संपन्न

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.