राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

महाराष्ट्र में प्याज की कीमतों में 15% गिरावट, निर्यात नीति और मांग से अधिक सप्लाई बनी कारण

Share

महाराष्ट्र में प्याज की कीमतों में गिरावट के कारण

19 जून 2024, भोपाल: महाराष्ट्र में प्याज की कीमतों में 15% गिरावट, निर्यात नीति और मांग से अधिक सप्लाई बनी कारण – इस महीने जून 2024 में महाराष्ट्र में प्याज की कीमतों में मई 2024 की तुलना में 15.54% की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले साल जून 2023 की तुलना में 14.53% कम है। यह गिरावट मुख्य रूप से भारत की निर्यात नीति और बाजार में प्याज की अधिक आपूर्ति के कारण हुई है। पिछले महीने मई 2024 में प्याज की कीमत 3211 रुपये प्रति क्विंटल थी जो इस महीने जून 2024 में घटकर 2712 रुपये प्रति क्विंटल हो गई।

मुख्य उत्पादक राज्यों में प्याज की कीमतों में बदलाव

जून 2024 में प्याज की कीमतों में पिछले साल की तुलना में प्रमुख उत्पादक राज्यों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है। मध्य प्रदेश में 8.69% की बढ़ोतरी देखी गई है। कर्नाटक में 11.42% की वृद्धि हुई है, जबकि राजस्थान में 11.85%, गुजरात में 10%, और तेलंगाना में 10.6% की वृद्धि दर्ज की गई है। हरियाणा में प्याज की कीमतों में 2.68% की मामूली वृद्धि हुई है यह वृद्धि प्याज की बढ़ती मांग और विभिन्न राज्यों की कृषि नीतियों का परिणाम है।

  • कर्नाटक: 11.42% की वृद्धि
  • राजस्थान: 11.85% की वृद्धि
  • गुजरात: 10% की वृद्धि
  • तेलंगाना: 10.6% की वृद्धि
  • हरियाणा: 2.68% की मामूली वृद्धि
  • मध्य प्रदेश: 8.69% की बढ़ोतरी

दूसरी ओर, महाराष्ट्र में उल्लेखनीय गिरावट ने बाजार में असंतुलन पैदा किया है। यह परिवर्तन विभिन्न राज्यों की आर्थिक और कृषि नीतियों पर निर्भर करता है और भविष्य में भी इन कारकों के अनुसार परिवर्तनशील रहेगा।

निर्यात नीति और उसके प्रभाव

भारत सरकार ने प्याज निर्यात पर लगी रोक हटा दी है, लेकिन उच्च न्यूनतम निर्यात मूल्य (MEP) और 40% निर्यात शुल्क ने निर्यात को मुश्किल बना दिया है। न्यूनतम निर्यात मूल्य 550 अमेरिकी डॉलर और 40% निर्यात शुल्क निर्धारित किया गया जिससे प्रभावी निर्यात मूल्य 770 अमेरिकी डॉलर प्रति टन हो जाता है, जो भारतीय रुपये में लगभग 64 रुपये प्रति किलोग्राम होता है।

अक्टूबर में प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया गया था जब उत्पादन में कमी के कारण आपूर्ति कम हो गई थी। मई 2024 में प्रतिबंध हटा लिया गया, लेकिन उच्च निर्यात मूल्य और शुल्क ने निर्यात को असंभव बना दिया।

राज्यों में प्याज की कीमतों का तुलनात्मक विश्लेषण

नीचे दिए गए चार्ट में जून 2024 में विभिन्न राज्यों में प्याज की कीमतें और उनकी प्रतिशत वृद्धि को दर्शाया गया है:

राज्यकीमतें जून 2024कीमतें मई 2024कीमतें जून 2023परिवर्तन (पिछले महीने के मुकाबले)परिवर्तन (पिछले साल के मुकाबले)
बिहार2442235722503.618.53
छत्तीसगढ़2211214122433.27-1.43
गुजरात257325982339-0.9610
हरियाणा2296227522360.922.68
कर्नाटक376537713379-0.1611.42
मध्य प्रदेश2463243922660.988.69
महाराष्ट्र271232113173-15.54-14.53
दिल्ली2462238823983.12.67
पंजाब2279227521300.187
राजस्थान2445241121861.4111.85
तेलंगाना2390236321611.1410.6
उत्तर प्रदेश2370232922731.764.27
उत्तराखंड2436233023724.552.7
पश्चिम बंगाल2451244926660.08-8.06

महाराष्ट्र में प्याज की कीमतों में गिरावट किसानों के लिए चिंता का विषय है। उन्हें उचित मूल्य नहीं मिल पा रहा है जिससे उनकी आर्थिक स्थिति पर असर पड़ रहा है। सरकार को निर्यात नीति में बदलाव पर विचार करना चाहिए और प्याज की अतिरिक्त आपूर्ति को संतुलित करने के उपाय करने चाहिए।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements