राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

चीनी बीजों के साथ कश्मीर में लहसुन उत्पादन में उछाल; गुणवत्ता और शेल्फ लाइफ में सुधार

Share

13 जून 2024, भोपाल: चीनी बीजों के साथ कश्मीर में लहसुन उत्पादन में उछाल; गुणवत्ता और शेल्फ लाइफ में सुधार – कश्मीर के कृषि परिदृश्य में इस सीजन लहसुन उत्पादन में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है, जिससे कुल अपेक्षित उत्पादन 70,000 टन तक पहुंच गया है, जिसमें 2,500 टन की अतिरिक्त वृद्धि हुई है। कश्मीर का लहसुन, अपने अनूठे स्वाद के लिए प्रसिद्ध और कश्मीरी व्यंजनों का प्रमुख घटक माना जाता है, लंबे समय से क्षेत्र की एक मूल्यवान नकदी फसल रही है।

स्थानीय किसानों और व्यापारियों ने लहसुन के बहुआयामी लाभों पर प्रकाश डाला है, जिसमें इसका रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रित करने में भूमिका शामिल है, जिससे यह स्वास्थ्य-सचेत उपभोक्ताओं के लिए एक महत्वपूर्ण घटक बन गया है। पुलवामा के एक किसान, जावेद अहमद ने लहसुन के पाक उपयोगों के अलावा इसके घरेलू उपचारों में विविध उपयोगों के महत्व को रेखांकित किया।

प्रमुख लहसुन व्यापारी बिलाल अहमद डार ने लहसुन उत्पादन की संभावनाओं पर चर्चा की, जिससे यह कश्मीर में प्रतिष्ठित सेब की खेती के समान स्तर तक पहुंच सके। उन्होंने कश्मीरी लहसुन के बाजार मूल्य को बढ़ाने के लिए प्रसंस्करण तकनीकों में सुधार के महत्व पर जोर दिया, यह देखते हुए कि बिना प्रसंस्कृत लहसुन बेचने की वर्तमान प्रथा अक्सर किसानों के लिए कम लाभ का परिणाम होती है।

इस क्षेत्र के एक विशेषज्ञ, डॉ. एजाज मल्ला ने कश्मीर में लहसुन की खेती के विकास पर अपने विचार साझा किए। उन्होंने उल्लेख किया कि चीनी लहसुन बीजों के परिचय ने कश्मीरी लहसुन की गुणवत्ता और शेल्फ लाइफ को बढ़ा दिया है, जिससे यह एक वैश्विक रूप से मान्यता प्राप्त उत्पाद बन गया है। हालांकि, डॉ. मल्ला ने किसानों को अपने उत्पाद के लिए बेहतर मूल्य प्राप्त करने में सक्षम बनाने के लिए और प्रसंस्करण और मूल्य संवर्धन की आवश्यकता पर जोर दिया।

लहसुन उत्पादन में वृद्धि और इसके बहुआयामी लाभों की बढ़ती पहचान ने कश्मीर को इस बहुमुखी फसल का एक प्रमुख केंद्र बना दिया है, जो किसानों और व्यापारियों दोनों के लिए बढ़ती मांग का लाभ उठाने और कश्मीरी लहसुन उद्योग की पूरी क्षमता को अनलॉक करने के अवसर प्रदान करता है।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements