राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

4 जून को पारदर्शी मतगणना की मांग, किसानों ने लिखा चुनाव आयोग को पत्र

Share

03 जून 2024, नई दिल्ली: 4 जून को पारदर्शी मतगणना की मांग, किसानों ने लिखा चुनाव आयोग को पत्र – संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने रविवार को चुनाव आयोग को खुला पत्र लिखकर 4 जून को होने वाली लोकसभा चुनावों की मतगणना को “स्वतंत्र और पारदर्शी” बनाने की अपील की है।

एसकेएम, जो अब वापस ले लिए गए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर चुका है, ने मतगणना प्रक्रिया में गड़बड़ी की आशंका जताई है। पत्र में उन्होंने कहा, “हम भारत के किसानों की ओर से आपकी ओर ध्यान आकर्षित कराना चाहते हैं कि मतगणना प्रक्रिया में किसी भी तरह की गड़बड़ी हो सकती है ताकि वर्तमान शासन को सत्ता में बनाए रखा जा सके।”

पत्र में एसकेएम ने उल्लेख किया कि किसानों ने इस बार बीजेपी के चुनाव अभियान का विरोध किया था, विशेष रूप से न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) और कर्ज माफी के मुद्दों पर। एसकेएम ने कहा, “हमारा शांतिपूर्ण और विशाल विरोध प्रदर्शन किसानों, मजदूरों और गरीब वर्गों के जीवनयापन के मुद्दों को सामने लाया और लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता और संघवाद के संवैधानिक सिद्धांतों की रक्षा की।”

संयुक्त किसान मोर्चा ने आरोप लगाया कि चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी नेताओं ने बार-बार आचार संहिता और संविधान का उल्लंघन किया। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने लगातार नफरत फैलाने वाले भाषण दिए और किसानों को विदेशी आतंकवादियों और खालिस्तानियों से जोड़कर बदनाम किया।”

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की और केवल ‘सलाह’ देकर मामले को निपटा दिया। इससे लोगों के मन में संदेह पैदा हुआ कि चुनाव प्रक्रिया में बीजेपी के पक्ष में हेरफेर हो रहा है।

संयुक्त किसान मोर्चा ने चुनाव आयोग से मतगणना प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने, मतदान डेटा को समय-समय पर सार्वजनिक करने और नियमों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने की मांग की। उन्होंने कहा, “हम नहीं चाहते कि चुनाव आयोग के किसी भी अनुचित आचरण के कारण लोगों को यह विश्वास हो कि उनके जनादेश को कमजोर किया गया है।” पत्र के अंत में SKM ने अपील की कि चुनाव आयोग इस बार किसानों और जनता को विश्वास दिलाए कि उनका लोकप्रिय जनादेश सुरक्षित और निष्पक्ष रहेगा।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements