राष्ट्रीय कृषि समाचार (National Agriculture News)

रागी के एमएसपी में 12% की बढ़ोतरी; जानिए , केंद्र सरकार रागी को क्यों बढ़ावा दे रही है?

Share

20 जून 2024, नई दिल्ली: रागी के एमएसपी में 12% की बढ़ोतरी; जानिए , केंद्र सरकार रागी को क्यों बढ़ावा दे रही है? – सेंट्रल कैबिनेट ने विपणन सत्र 2024-25 के लिए खरीफ की प्रमुख फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि को मंजूरी दे दी है।

इस वृद्धि में रागी के एमएसपी में 12% की बढ़ोतरी हई है, जो की 3846 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 4290 रुपये प्रति क्विंटल कर दी गई  है, जो 444 रुपये की वृद्धि है। 

रागी का एमएसपी खरीफ की मुख्य फसल धान, ज्वर, मक्का, बाजरा से अधिक है

फसल2023-242024-25वृद्धिप्रतिशत वृद्धि
रागी3846429044412%

केंद्र सरकार का रागी को बढ़ावा देने का कारण

संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (यूएनएफएओ) ने भारत की सिफारिश पर वर्ष 2023 को अंतरराष्ट्रीय मिलेट वर्ष घोषित किया था। तब भारत ने दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय मिलेट वर्ष मनाया था। रागी मुख्य मिलेट फसलों में से एक है, लेकिन इसकी एमएसपी कम होने के कारण किसान इसे नहीं उगाते थे। इसी समस्या को दूर करने के लिए कैबिनेट समिति ने अब किसानों को रागी उगाने के लिए प्रेरित करने के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि की है।

केंद्र सरकार द्वारा रागी को बढ़ावा देने के पीछे कई महत्वपूर्ण कारण हैं:

  1. पोषण सुरक्षा: रागी में उच्च पोषण मूल्य होता है, जो कुपोषण से लड़ने में मदद कर सकता है। यह विशेष रूप से बच्चों और महिलाओं के लिए लाभकारी है।
  2. जलवायु सहनशीलता: रागी एक ऐसा फसल है जो सूखे और प्रतिकूल जलवायु परिस्थितियों में भी उगाई जा सकती है। यह कृषि विविधता को बढ़ावा देने और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने में मदद कर सकता है।
  3. आर्थिक लाभ: रागी की फसल उत्पादन में कम निवेश और देखभाल की आवश्यकता होती है, जिससे छोटे और सीमांत किसान भी इसे आसानी से उगा सकते हैं और आर्थिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  4. स्वास्थ्य लाभ: रागी का सेवन डायबिटीज, हृदय रोग और मोटापा जैसी बीमारियों से बचाव में मदद करता है। इसके ग्लूटेन मुक्त होने के कारण यह ग्लूटेन संवेदनशील लोगों के लिए भी सुरक्षित है।

रागी, जिसे ‘फिंगर मिलेट’ भी कहा जाता है, एक महत्वपूर्ण अनाज है जो विशेष रूप से दक्षिणी और केंद्रीय भारत में उगाया जाता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है और इसमें कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन और अन्य आवश्यक विटामिन्स की उच्च मात्रा होती है। रागी को अपने उच्च पोषण मूल्य और स्वास्थ्य लाभों के कारण सुपरफूड माना जाता है।

केंद्र सरकार का यह निर्णय रागी को बढ़ावा देने और इसके उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है। इससे न केवल किसानों को लाभ मिलेगा बल्कि पूरे देश में पोषण सुरक्षा को भी मजबूती मिलेगी I

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

कृषक जगत ई-पेपर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.krishakjagat.org/kj_epaper/

कृषक जगत की अंग्रेजी वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

www.en.krishakjagat.org

Share
Advertisements