आज का सोयाबीन मंडी रेट (28 अप्रैल 2023 के अनुसार); कालापीपल मंडी में रहा 5395 अधिकतम रेट

Share

28 अप्रैल 2023, नई दिल्ली: आज का सोयाबीन मंडी रेट (28 अप्रैल 2023 के अनुसार); कालापीपल मंडी में रहा 5395 अधिकतम रेट – नीचे दी गई तालिका में पूरे भारत में सोयाबीन की मंडी दरें हैं। इसमें सोयाबीन की न्यूनतम, अधिकतम और मोडल दर का उल्लेख है |

मध्य भारत में सबसे ज्यादा रेट मध्य प्रदेश की कालापीपल मंडी में था। अधिकतम रेट 5395/- रु./क्विं. था और मंडी में कुल 70 टन आवक थी। नीचे भारत की मंडियों की पूरी सूची और उसके साथ दरें दी गई हैं।

देश की प्रमुख मंडियों में सोयाबीन के मंडी रेट और आवक (28 अप्रैल 2023 के अनुसार)
गुजरात मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
दाहोद22.5510052005150
धोराजी1.2443047804605
विसवादर4.1440048304615
कर्नाटक मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
बीदर20480050604950
गदगNR288936893422
गुलबर्गा1400048004550
हुबली (अमरगोल)2251048994588
मध्य प्रदेश मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
बदनावर285280053805250
झाबुआ17.2500051005050
कालापीपल70509053955145
खरगोन30470050744951
खातेगांव74.5279952355000
मन्दसौर384485053215100
महू123.5467153745290
सनावद5.8430549014695
महाराष्ट्र मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
अंबद (वादिगोदरी)2440048254600
मुखेड़NR520052005200
नागपुर3450047804710
पैठण1457545754575
सेनगांव7400050004500
सोनपेठ9485050004950
उमरखेड4500052005100
मणिपुर मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
बिशनपुर0.39400100009700
इंफाल5.49000100009500
लमलोंग बाजार0.3800090008500
थौबल0.4850090008750
राजस्थान मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
कोटा276425152655000
तेलंगाना मंडी आवक (टन में)न्यूनतम रेट (रु./क्विं.)अधिकतम रेट (रु./क्विं.)मोडल रेट (रु./क्विं.)
बिचकुंडा0.01430043004300
आज का सोयाबीन मंडी रेट (28 अप्रैल 2023 के अनुसार); कालापीपल मंडी में रहा 5395 अधिकतम रेट

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्राम )

Share
Advertisements