वीटावैक्स पॉवर ही है सम्पूर्ण बीजोपचारक

Share

इन्दौर। धानुका एग्रीटेक लि. द्वारा विश्व प्रसिद्ध बीजोपचारक वीटावैक्स पॉवर किसानों को उपलब्ध कराया जा रहा है। यह फफूंदीनाशक सिर्फ बीज उपचार के लिए है। वीटावैक्स पॉवर दो फफूंदीनाशकों कार्बोसिन तथा थायरम का मिश्रण है। दोनों ही तत्व इसमें 37.5-37.5 प्रतिशत रहते हैं। कार्बोसिन अन्त: प्रवाही फफूंदनाशक है जो पानी में घुलकर बीज के अन्दर प्रवेश कर जाता है तथा बीज के अन्दर रहने वाली फफूंदियों को नष्ट कर देता है। वीटावैक्स पॉवर का दूसरा तत्व थायरम है जो एक प्रचलित सम्पर्क फफूंदनाशक है। यह बीज के ऊपर लगी तथा भूमि में स्थित फफूंदियों को नियंत्रित कर बीज तथा पौधे को सुरक्षा प्रदान करता है।
गेहूं की प्रमुख बीमारियां हैं लूज स्मट, करनाल, बंट, रूट ब्लॉच, स्पोट ब्लॉच, स्टेम ब्लॉच आदि। जबकि चने में मुख्य रूप से लगने वाली बीमारियां विल्ट (उग्रा/उकटा), जड़ गलन, तना गलन आदि। थायरम इन भूमिजनित फफूंदियों को नष्ट कर पौधों को सुरक्षित रखता है। इस प्रकार वीटावैक्स पॉवर के बीज उपचार करने से बीज व भूमिजनित दोनों प्रकार की बीमारियों से सुरक्षा मिल जाती है। बीजों में अधिक अंकुरण मिलता है। अंकुरण शीघ्र तथा समान रूप से होता है।
वीटावैक्स पॉवर से उपचारित बीजों से उत्पन्न पौधे स्वस्थ तो रहते ही हैं तथा उनकी जड़ों का विकास भी अधिक होता है। जड़ों के अधिक विकास के कारण उनमें रायजोबियम की गांठें भी अधिक बनती हैं जो वातावरण से नत्रजन अवशोषित कर पौधों को उपलब्ध कराती है। वीटावैक्स पॉवर का 2 ग्राम प्रति किलो बीज की दर से बीजोपचार करना चाहिए।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.