सभी फसलों में लाभकारी ग्रोमोर एक्यू स्प्रे एसपी

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें

इंदौर। सभी फसलों में लाभकारी ग्रोमोर एक्यू स्प्रे एसपी प्रतिष्ठित कम्पनी कोरोमंडल इंटरनेशनल लि.का उत्पाद ग्रोमोर एक्यू स्प्रे एसपी फसल विशेष उर्वरक है, जो सभी सूक्ष्म पोषक तत्वों के साथ अनुमोदित किया गया है. ग्रोमोर एक्यू स्प्रे सभी फसलों के लिए लाभकारी है. फसल के अनुसार इसमें आवश्यक तत्वों का समावेश किया गया है. ग्रोमोर एक्यू स्प्रे की विशेषताएं बताते हुए कोरोमंडल कम्पनी के ज़ोनल मैनेजर श्री विशाल भट्ट ने बताया कि ग्रोमोर एक्यू स्प्रे एसपी सभी फसलों के लिए लाभकारी है.

फसल के अनुसार इसमें आवश्यक तत्वों का समावेश किया गया है. जैसे आलू और गन्ने के लिए 8, कपास की फसल के लिए 6 दलहनी फसलों के लिए 9 और मिर्च में सर्वाधिक 10 तत्व शामिल किए गए हैं जिसमें एनपीके, मैग्नेशियम,सल्फर, जि़ंक, बोरान, मैग्नीज, आयरन और कॉपर शामिल है. इसके अलावा ग्रोमोर एक्यू स्प्रे सीरियल एसपी 4 पोषक तत्वों नाइट्रोजन, पोटाश, मैग्नेशियम, जि़ंक और बोरान से बनाया गया है जो धान, गेहूं और मक्का जैसी अनाजवर्गीय फसल में लाभकारी है. यह उत्पाद कपास, मिर्च, दलहनी और अनाज की फसल के लिए अनुकूल शत प्रतिशत जल घुलनशील उर्वरक है, जो सूक्ष्म तत्वों से भरपूर सुरक्षित उत्पाद है.

इसका पीएच कारगर होने से इसे पौधे आसानी से ग्रहण करते हैं. इसमें उच्च पोटाश आधारित फार्मूला होने के कारण यह फलों को ठोस बनाकर उपज बढ़ाता है. पौधे की रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार भी करता है, क्योंकि यह फसलों के लिए संतुलित पोषण है. वहीं दूसरी ओर ग्रोमोर एक्यू स्प्रे के पंच फार्मूले का जिक्र करते हुए कोरोमंडल के सीनियर एग्रोनॉमिस्ट डॉ. उमेन्द्र सिंह ने कहा कि यह उत्पाद सही स्रोत, सही मात्रा, सही समय, सही विधि और सही जगह पर फसलों की मांग के अनुसार पोषक तत्व प्रदान करता है. छिड़काव के लिए इसकी अनुमोदित मात्रा सांद्रता 1.0 प्रतिशत या 10 ग्राम/लीटर पानी होना चाहिए.

कपास, मिर्च, दलहनी और अनाज वर्गीय फसलों में कुल तीन छिड़काव की सलाह दी जाती है.फसल सुरक्षा रसायनों के साथ प्रयोग किए जाने पर 7.0 ग्राम/लीटर पानी होना चाहिए. अनुकूलता संबंधी समस्या न हो, इसके लिए पहले पौधे के थोड़े भाग पर आजमाएं. इसका प्रयोग फूल आने के बाद छिड़काव शुरू करके फलियां पकने तक करना चाहिए. पत्तियों पर प्रभावी असर के लिए पर्याप्त पानी इस्तेमाल कर सुबह-शाम छिड़काव करें जब तापमान कम हो. नोजल वाले स्प्रे पंप का इस्तेमाल करें, ताकि बून्द का आकार छोटा होकर पोषक तत्व के साथ घुलकर पत्तों के अंदर जाने में मदद कर सके.

व्हाट्सएप या फेसबुक पर शेयर करने के लिए नीचे क्लिक करें
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 2 =

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।