बैंकों ने किसानों के लिए फिर से खोले दरवाजे : श्री यादव

Share this

खरगोन। प्रदेश के कृषि उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव लगातार तीसरे दिन कसरासवद तहसील के ग्र्रामीण अंचल का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि अब प्रदेश में किसानों के लिए बैंको ने पून: दरवाजे खोल दिए है। अब तक जो बैंकर्स किसानों को फसल ऋण अलावा कोई भी ऋण देने से कतराती थी। अब प्रदेश शासन ने हालात बदल दिए है। अब किसानो को फिर से फसल ऋण न सिर्फ सहकारी संस्थाएं दे रही है बल्कि राष्ट्रीयकृत बैंकें भी फसल ऋण देने लगी है। प्रदेश शासन की जय किसान फसन ऋण माफी योजना से हालात बदले है। इसके अलावा अब प्रदेश में घरेलू बिजली बिल आधे और पेंशन की राशि दोगुना मिलने लगी है। अभी तो प्रदेश शासन को मात्र 9 माह ही मिले काम करने के लिए अभी भी शासन की कई प्राथमिकताएं धरातल पर आना बाकी है। कृषि मंत्री श्री यादव ने ग्राम डाबरी में उमावि में परीक्षा केन्द्र का भी शुभारंभ किया। अब यहां के 10वीं और 12वीं के छात्र छात्राओं को परीक्षा बलवाड़ा देने के लिए नही जाना पडेगा। कृषि मंत्री श्री यादव ने नायदड़, भैसावद, जहांगीरपुरा, डाबरी और मलतार गांवों में संबोधित करते हुए कहा कि कसरावद को देश की सबसे विकसित और प्रगतिशील विधानसभा बनाने के प्रयास किए जा रहे है। इस दौरान जनपद अध्यक्ष गुलाबचंद पटेल, प्रतिनिधि श्री इंदर सिह राठौर, कृषि उपसंचालक श्री एमएल चौहान, तहसीलदार श्री विवेक सोनकर व अन्य अधिकारी उपस्थित रहें।

बोरावां में जैविक कृषि संगोष्ठी का किया शुभारंभ : कसरावद तहसील के ग्राम बोरावां स्थित स्व. गुलाबबाई यादव महाविद्यालय में जैविक कृषि को बढ़ावा देने के लिए एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस संगोष्ठी का शुभारंभ कृषि मंत्री श्री यादव ने किया। संगोष्ठी में एनसीओएफ रीजनल सेंटर जलबपुर और कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर के वैज्ञानिकों के अलावा निजी क्षेत्र में जैविक कृषि में कार्य करने वाली संस्थाओं के विशेषज्ञ भी शामिल थे।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
आपको यह खबर अपने किसान मित्रों के साथ साझा करनी चाहिए। ऊपर दिए गए 'शेयर' बटन पर क्लिक करें।