हाईटेक नर्सरी अनुदान के लिए 31 अगस्त तक आवेदन कैसे करें

Share

24 अगस्त 2020, दुर्ग। हाईटेक नर्सरी अनुदान के लिए 31 अगस्त तक आवेदन कैसे करें – प्रदेश में उद्यानिकी गतिविधियों के एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना वर्ष 2020-21 अंतर्गत विभिन्न घटकों/गतिविधियों हेतु अनुदान सहायता प्राप्त किए जाने के संबंध में इच्छुक कृषकों/ निजी उद्यमी से प्रस्ताव आमंत्रित किए जाते हैं। इस संबंध में जिला कार्यालय में पदस्थ उप/ सहायक संचालक उद्यान एवं संचालनालय से संपर्क कर विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है। प्रस्ताव बैंक के माध्यम से संबंधित जिला कार्यालयों में जमा किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस माह की 31 तारीख तक प्रस्तावों को प्राथमिकता के आधार पर ‘‘पहले आओ पहले पाओ’’ के तहत स्वीकृति दी जाएगी। विभाग द्वारा जिन गतिविधियों/घटकों पर सहायता दी जानी है उनका विवरण निम्नानुसार है-

  • हाईटेक नर्सरी (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 100 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 40 लाख रूपए, छोटी नर्सरी (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 15 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 7.50 लाख रूपए
  • टिश्यू कल्चर यूनिट (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 250 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 100 लाख रूपए
  • प्लग टाईप नर्सरी (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 104 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 52 लाख रूपए
  • बीज अधोसंरचना (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 200 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 100 लाख रूपए
  • मशरूम उत्पादन यूनिट (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 20 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 8 लाख रूपए
  • मशरूम स्पाॅन यूनिट (निजी क्षेत्र) इकाई लागत 15 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 6 लाख रूपए
  • मशरूम कम्पोस्ट यूनिट (निजी क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 20 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 8 लाख रुपये
  • इंटिग्रेटेड पैक हाऊस (सामान्य क्षेत्र) इकाई लागत 50 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 17.50 लाख रूपए
  • कोल्ड रूम (स्टेगिंक) (सामान्य क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 15 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 5.25 लाख रूपए
  • कोल्ड स्टोरेज टाइप-1 (सामान्य क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 400 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 140 लाख रूपए
  • कोल्ड स्टोरेज टाइप-2 (सामान्य क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 35 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 12.25 लाख रूपए रेफ्रिजरेटेड वेन (सामान्य क्षेत्र) इकाई लागत 26 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 9.10 लाख रूपए
  • राइपेनिंग चैम्बर इकाई लागत हेतु 1.00/डज् लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 35 लाख रूपए
  • प्राईमरी मोबाईल/मिनिमल प्रोसेसिंग यूनिट (सामान्य क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 25 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 10 लाख रूपए
  • ग्रामीण बाजार/अपनी मंडी (सामान्य क्षेत्र) हेतु इकाई लागत 25 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 10 लाख रूपए
  • खुदारा बाजार/आउटलेट (सामान्य क्षेत्र) इकाई लागत 15 लाख रूपए, अधिकतम अनुदान 5.25 लाख रूपए

इच्छुक आवेदक योजना की विस्तृत जानकारी एवं दिशा-निर्देश विभागीय वेबसाइट -एग्रीपोर्टल डॉट सीजी डॉट एनआइसी (http/agriportal.cg.nic.in/horticulture/HortiHi) से प्राप्त कर सकते हैं ।

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.