राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (एनएफएसएम) ऑयलसीड

Share

18 जुलाई 2022, नई दिल्ली । राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन (एनएफएसएम) ऑयलसीड –

तिलहन (60% भारत सरकार और 40% राज्य की हिस्सेदारी पहाड़ी और पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए 90:10)
(क) एनएफएसएम-ओएस बीज प्रभाग द्वारा निर्धारित 100त्न लागत की दर से केन्द्रीय एजेंसियों द्वारा आईसीएआर/एसएयू से प्रजनक बीज की खरीद में सहायता प्रदान करेगा।

(ख) आधारी बीजों/प्रमाणित बीजों के उत्पादन के लिए, पिछले 10 वर्षों के दौरान जारी की गई सभी किस्मों/संकर कि़स्मों के लिए 2500 रुपये/ क्विंटल और पिछले 5 वर्षों में जारी की गई किस्मों/संकर किस्मों पर 100 रुपये/क्विंटल की अतिरिक्त सहायता। सब्सिडी राशि का 75त्न किसानों के लिए और प्रमाणन और उत्पादन आदि के लिए व्यय को पूरा करने के लिए बीज उत्पादक एजेंसियों के लिए 25% है। (60:40/90:10)

(ग) प्रमाणित बीजों के वितरण के लिए, तिल को छोडक़र सभी तिलहनों की किस्मों/कंपोजिटों, जो 15 वर्ष से अधिक पुराने नहीं हैं, के लिए लागत का 50त्न जो 4000 रुपये प्रति क्विंटल तक सीमित है (60:40/90:10)।

संकर किस्मों के लिए, संकर किस्मों और तिल किस्मों जो 5 वर्ष से अधिक पुरानी नहीं हैं, की 8000/क्विंटल की अधिकतम सीमा के साथ लागत के 50त्न की दर से प्रमाणित संकर बीजों के वितरण के लिए सहायता।

(घ) मिनिकिट के वितरण के लिए प्रत्येक 25 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए 100% लागत प्रतिपूर्ति की दर से प्रत्येक फसल के लिए 1 मिनिकिट की दर से आवंटन किया जाएगा।

महत्वपूर्ण खबर: सरकार खुले बाजार में बिक्री के लिएजारी करेगी 50 हज़ार टन प्याज

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.