स्ट्राबेरी, पपीते की मिठास से 1 एकड़ से 8 लाख कमाते हैं सौदान सिंह

Share

21 फरवरी 2022, भोपाल । स्ट्राबेरी, पपीते की मिठास से 1 एकड़ से 8 लाख कमाते हैं सौदान सिंह – कम लागत में अधिक आय प्राप्त कर भोपाल के निकट ग्राम बेरखेड़ी बजायफ्ता के किसान श्री सौदान सिंह ने अनुपयोगी कृषि भूमि को बेहतर आमदनी का जरिया बनाया है। परंपरागत खेती को पीछे छोड़ सौदान सिंह ने अपनी 4 एकड़ की अनुपयोगी कृषि भूमि में स्ट्राबेरी और पपीता की मिठास से अपनी आमदनी को दोगुना कर लिया है।

ग्राम बेरखेड़ी के किसान श्री सौदान सिंह पिता श्री गोरेलाल कुशवाह बताते हैं कि वे पहले परम्परागत तरीके से खेती करते थे। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों से सम्पर्क कर कम पानी में स्ट्रॉबेरी की खेती की और ड्रिप एवं मल्चिंग का उपयोग किया। वे कहते हैं कि पहले वर्ष में लागत अधिक आई, जिसमें एक लाख का खर्चा खेत को व्यवस्थित कराने एवं मल्चिंग पर आया। एक एकड़ में 24000 पौधे लागाये गये, जिनकी प्रति पौधे कीमत 10 रूपए थी, जिसका कुल मूल्य 2 लाख 40 हजार था। किसान सौदान सिंह बताते है कि एक एकड़ में पहले वर्ष 2 से ढाई लाख की आमदनी हुई। फिर दूसरे वर्ष से 7 से 8 लाख रुपये की आमदनी प्राप्त होने लगी।

स्ट्राबेरी की फसल 4 से 5 माह की होती है और स्ट्राबेरी की फसल लेने के बाद वे पपीता की फसल के उत्पादन से 3 से साढ़े तीन लाख रुपये प्रति एकड़ आमदनी लेते हैं। श्री कुशवाह कहते हैं कि पहले मैं इसलिए चिंतित रहता था कि मेरे खेत की मिट्टी की जलधारण क्षमता कम होने से परम्परागत फसलों से अधिक लाभ प्राप्त नहीं कर पाता था। अब चिंता खत्म हो गई है। लघु सिंचाई तकनीक के उपयोग से बेहतर खेती हो रही है। अब सौदान सिंह सीमित भूमि से अधिक लाभ ले पा रहे हैं।

संपर्क : तेजराम कुशवाह मो.: 9826204195

महत्वपूर्ण खबर: 21वीं सदी की आधुनिक कृषि व्यवस्था की दिशा में एक नया अध्याय

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.