फसल की खेती (Crop Cultivation)कम्पनी समाचार (Industry News)

सोयाबीन बीजोपचार के लिए तीन शक्तियों वाला यूपीएल का इलेक्ट्रॉन

Share

08 जून 2024, इंदौर: सोयाबीन बीजोपचार के लिए तीन शक्तियों वाला यूपीएल का इलेक्ट्रॉन – सोयाबीन फसल की सुरक्षा के लिए बीज का उपचार करना अत्यंत आवश्यक है। बीजोपचार से फसल के आरम्भिक रोगों एवं कीटों पर नियंत्रण हो जाता है। प्रसिद्ध कम्पनी यूपीएल लि ने भारत में पहली बार तीन शक्तियों वाला उत्पाद इलेक्ट्रॉन पेश किया है, जो सोयाबीन फसल में बीजोपचार के लिए एक बेहतर विकल्प है, जो किसानों की खुशहाली बढ़ाने वाला अनोखा उत्पाद है।

यूपीएल इलेक्ट्रॉन

तीन शक्तियों का मिश्रण – इलेक्ट्रॉन में तीन शक्तियों का मिश्रण है, जो मिट्टी में पैदा होने वाली बीमारियों की रोकथाम तो करता  ही है,शुरूआती चूसक कीटों तथा मिट्टी के कीटों की भी रोकथाम करता है। इसका बीज में सही जमाव होने से यह सोयाबीन की जड़ों को बेहतर बनाकर पौधों का विकास करता है। इलेक्ट्रॉन से उत्तम अंकुरण और पौधे की आरम्भिक पौध स्थापना में मदद मिलने के साथ फसल को उत्तम शक्ति मिलती है।

सीड ट्रीटमेंट मशीन की सुविधा उपलब्ध – यूपीएल द्वारा मध्य प्रदेश के किसानों में बीजोपचार के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से 1500 मशीनें डिस्ट्रीब्यूटर/डीलर के यहाँ उपलब्ध कराई है , जिनका किसान लाभ ले सकते हैं।

किसान सुरक्षा कवच – यूपीएल ने किसानों के लिए किसान सुरक्षा कवच योजना लागू की है , जिसमें दुर्घटना जनित मृत्यु एवं विकलांगता  बीमा एवं परिवार के लिए वित्तीय सुरक्षा उपलब्ध कराई गई है। इस योजना में इलेक्ट्रॉन की एक लीटर बोतल खरीदने पर ढाई लाख रु और 400  मिली लीटर की बोतल खरीदने पर एक लाख रु का बीमा कवर के साथ अधिकतम 5 लाख रु तक का  मुफ्त दुर्घटना बीमा प्रदान किया जाएगा, जो किसान को किसी भी अप्रत्याशित दुर्घटना की स्थिति में व्यक्तिगत दुर्घटना कवर प्रदान कर खुद को और उनके परिवार को सुरक्षित रखेगा।नर्चर फार्म ऐप को डाउनलोड करके  दिए गए निर्देशों का पालन कर किसान सुरक्षा कवच का लाभ उठाया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए नर्चर केयर के टोल फ्री नंबर 18001021199  पर कॉल करें।

(कृषक जगत अखबार की सदस्यता लेने के लिए यहां क्लिक करें – घर बैठे विस्तृत कृषि पद्धतियों और नई तकनीक के बारे में पढ़ें)

(नवीनतम कृषि समाचार और अपडेट के लिए आप अपने मनपसंद प्लेटफॉर्म पे कृषक जगत से जुड़े – गूगल न्यूज़,  टेलीग्रामव्हाट्सएप्प)

Share
Advertisements