फसल की खेती (Crop Cultivation)

नवीनतम फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और कृषि पद्धतियों में नवाचार, बुआई का समय, बीज उपचार, खरपतवार नियन्तारन, रोग नियन्तारन, कीटो और संक्रमण से सुरक्षा, बीमरियो का नियन्तारन। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल की खेती (Crop Cultivation) की जानकारी और नई किस्मे। गेहू, चना, मूंग, सोयाबीन, धान, मक्का, आलू, कपास, जीरा, अनार, केला, प्याज़, टमाटर की फसल में कीट नियंतरण एवं रोग नियंतरण। सोयाबीन में बीज उपचार कैसे करे, गेहूँ मैं बीज उपचार कैसे करे, धान मैं बीज उपचार कैसे करे, प्याज मैं बीज उपचार कैसे करे, बीज उपचार का सही तरीका। मशरुम की खेती, जिमीकंद की खेती, प्याज़ की उपज कैसे बढ़ाए, औषदि फसलों की खेती, जुकिनी की खेती, ड्रैगन फ्रूट की खेती, बैंगन की खेती, भिंडी की खेती, टमाटर की खेती, गर्मी में मूंग की खेती, आम की खेती, नीबू की खेती, अमरुद की खेती, पूसा अरहर 16 अरहर क़िस्म, स्ट्रॉबेरी की खेती, पपीते की खेती, मटर की खेती, शक्ति वर्धक हाइब्रिड सीड्स, लहसुन की खेती। मूंग के प्रमुख कीट एवं रोकथाम, सरसों की स्टार 10-15 किस्म स्टार एग्रीसीड्स, अफीम की खेती, अफीम का पत्ता कैसे मिलता है?

फसल की खेती (Crop Cultivation)

जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) रोपण के लिए बीज की बुवाई एवं दूरी

06 मई 2024, भोपाल: जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) रोपण के लिए बीज की बुवाई एवं दूरी – जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) रोपण के लिए 500 ग्रा. से 1 कि.ग्रा. तक के पूर्ण या कटे हुए कंदों

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए बीज की मात्रा कितनी लगती है ?

06 मई 2024, भोपाल: जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए बीज की मात्रा कितनी लगती है ? – जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) रोपण के लिए भूमिगत कंदों का प्रयोग किया जाता है। रोपण के

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए बीज की बुवाई का सही समय कब है ?

06 मई 2024, भोपाल: जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए बीज की बुवाई का सही समय कब है ? – जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) आमतौर पर 6-8 माह में तैयार होने वाली फसल है

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए भूमि और जलवायु कैसी होनी चाहिए ?

06 मई 2024, भोपाल: जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के लिए भूमि और जलवायु कैसी होनी चाहिए ? – पानी के अच्छे निकास वाली उपजाऊ बलुई दोमट मिट्टी जिमीकंद / सूरन (Elephant Foot Yam) की खेती के

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

नरवाई बचाओ-खाद बनाओ

02 मई 2024, नई दिल्ली: नरवाई बचाओ-खाद बनाओ – वर्तमान में गेहूं की खेती में यंत्रीकरण का उपयोग बढऩे से गेहूं की कटाई कम्बाइन हारवेस्टर ट्रैक्टर द्वारा आसानी से समय पर की जा रही है। किन्तु, उससे गेहूं डंठल में

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

मशरूम की किस्में एवं उत्पादन तकनीक

प्रेषक – डॉ. हिरदेश कुमार, सहायक प्रोफेसर; अरुण साहू, सहायक प्रोफेसर; कुमारी नम्रता चौहान, सहायक प्रोफेसर; डॉ. जे. पी. ठाकुर, विभागाध्यक्ष, कृषि विद्यालय विक्रांत विश्वविद्यालय, ग्वालियर; डॉ. रश्मि बाजपेयी, वरिष्ठ वैज्ञानिक(उद्यान) कृषि विज्ञान केन्द्र, ग्वालियर 30 अप्रैल 2024, ग्वालियर: मशरूम

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
Advertisements
फसल की खेती (Crop Cultivation)

जिमीकंद (सूरन) की खेती प्रति इकाई भूमि से अधिक आमदनी

प्रेषक – भगवत शरण असाटी, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केंद्र, छुईखदान (छग); मनोज चन्द्राकर, कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केंद्र, राजनांदगांव (छग) 30 अप्रैल 2024, भोपाल: जिमीकंद (सूरन) की खेती प्रति इकाई भूमि से अधिक आमदनी –

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

हरी खाद के लिए सनई या ढैंचा बोयें और प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दें

30 अप्रैल 2024, टीकमगढ़: हरी खाद के लिए सनई या ढैंचा बोयें और प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दें – कृषि विज्ञान केंद्र, टीकमगढ़ के प्रधान वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ. बी.एस. किरार, वैज्ञानिक, डॉ. एस.के. जाटव, डॉ. आर.के. प्रजापति एवं डॉ.

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

तीन चरणों में प्याज की उपज को अधिकतम कैसे करें

29 अप्रैल 2024, भोपाल: तीन चरणों में प्याज की उपज को अधिकतम कैसे करें – किसी भी फसल की उपज राजा होती है और प्याज में उच्च उपज क्षमता आपके द्वारा चुने गए बीजों से शुरू होती है लेकिन यह

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें
फसल की खेती (Crop Cultivation)

9 औषधियों के पेड़-पौधे जिन्हें नवदुर्गा कहा गया

27 अप्रैल 2024, भोपाल: 9 औषधियों के पेड़-पौधे जिन्हें नवदुर्गा कहा गया – शैलपुत्री (हरड़) : कई प्रकार के रोगों में काम आने वाली औषधि हरड़ हिमावती है जो देवी शैलपुत्री का ही एक रूप है। यह आयुर्वेद की प्रधान औषधि

आगे पढ़ने के लिए क्लिक करें