स्वराज का बागवानी खेती के लिए ‘कोड’ लांच

Share
  • मुंबई (कृषक जगत)

17 अगस्त 2022, स्वराज का बागवानी खेती के लिए ‘कोड’ लांच – पिछले कुछ वर्षों में, कृषि जीडीपी में बागवानी की हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है और यह तेजी से बढ़ता हुआ सेगमेंट बन गया है। बागवानी से होने वाले उत्पादन का अब कृषि जीडीपी में लगभग 30% योगदान है और यह बागवानी के लिए उपयोग किए जाने वाले केवल 17% क्षेत्र होने के बावजूद है। बागवानी फसलें अधिक लाभकारी हैं, इस धारणा के अनुरूप, वित्त वर्ष 17-21 के दौरान बागवानी फसलों का मूल्य औसत रूप से 11% बढ़ा है जबकि खाद्यान्न के मूल्य में 6% की औसत वृद्धि हुई है। बागवानी फसलों के लिए उपयोग किए जाने वाले क्षेत्र में सालाना 3% की वृद्धि हुई वहीं खाद्यान्न के क्षेत्र में सालाना 1% की वृद्धि हुई।

हालांकि, भारत में बागवानी खेती के लिए पर्याप्त मशीनीकरण की कमी है जिसमें मुख्य रूप से निराई और छिडक़ाव शामिल है। पावर टिलर या पावर वीडर जैसी वॉक-बिहाइंड मशीनों का उपयोग कम हो रहा है क्योंकि यह उपयोग की दृष्टि किसानों के बहुत अनुकूल नहीं हैं, और इनमें ऑपरेटर की थकान एवं सुरक्षा संबंधी समस्याएं हैं। इसे महसूस करते हुए, स्वराज ने स्वदेशी नवाचार से निर्मित, CODE लॉन्च किया है। स्वराज द्वारा लॉन्च किया गया, CODE अब तक का सबसे पतला (नैरो) और सबसे हल्का राइड-ऑन प्राइम मूवर है। इससे क्यारियों के बीच की निराई, जुताई आदि कामों के लिए श्रम बल या पशु शक्ति पर निर्भरता समाप्त हो जाएगी। बागवानी किसानों के लिए CODE दो-तरफा हाइड्रोलिक, शॉर्ट टर्निंग रेडियस, मल्टी-स्पीड गियरबॉक्स, साइड-शिफ्ट लीवर, 1000 आरपीएम पीटीओ, आरामदायक डिफरेंशियल लॉक सीट और हैंडल स्टीयरिंग से सुसज्जित है।

महत्वपूर्ण खबर:छत्तीसगढ़ में 39 लाख हेक्टेयर से अधिक हुई खरीफ बोनी

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.