छत्तीसगढ़ में 39 लाख हेक्टेयर से अधिक हुई खरीफ बोनी

Share

17 अगस्त 2022, रायपुर: छत्तीसगढ़ में 39 लाख हेक्टेयर से अधिक हुई खरीफ बोनी – राज्य में खरीफ फसलों की 39 लाख 80 हजार 980 हेक्टेयर बुआई हो चुकी है, जो निर्धारित लक्ष्य का 83 प्रतिशत है। अब तक खरीफ फसलों के तहत सर्वाधिक 23 लाख 87 हजार 150 हेक्टेयर में धान की बोता बोनी हुई है, जबकि 8 लाख 37 हजार 880 हेक्टेयर में धान की रोपाई हो चुकी है। इसके अलावा मोटे अनाज की 2 लाख 84 हजार 650 हेक्टेयर में, दलहन की 2 लाख 20 हजार 850 हेक्टेयर में, तिलहन की         1 लाख 8 हजार 720 हेक्टेयर में तथा सब्जी एवं अन्य फसलों की 1 लाख 41 हजार 730 हेक्टेयर में बुआई पूरी कर ली गई है।

कृषि विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में धान की कुल 32 लाख 25 हजार हेक्टेयर में, मक्का की 2 लाख 10 हजार 520 हेक्टेयर में, कोदो-कुटकी की 57 हजार 700 हेक्टेयर में, रागी की 16 हजार 430 हेक्टेयर में इस प्रकार अनाज की कुल बोनी 35 लाख 9 हजार 680 हेक्टेयर में पूरी हो चुकी है, जो कि निर्धारित लक्ष्य का 92 प्रतिशत है। राज्य में दलहन फसलों की कुल बोनी 2 लाख 20 हजार 850 हेक्टेयर में हुई है, जिसमें अरहर 1 लाख 13 हजार 740 हेक्टेयर में, मूंग 13 हजार हेक्टेयर में, उड़द 92 हजार 600 हेक्टेयर में तथा कुल्थी की 1430 हेक्टेयर में बुआई शामिल है। तिलहन फसलों की बोनी 1 लाख 8 हजार 720 हेक्टेयर में हुई है, जिसमें मंूगफली 49 हजार 760 हेक्टेयर में, तिल 18 हजार 620  हेक्टेयर, रामतिल 1330 हेक्टेयर में, सूरजमुखी 150 हेक्टेयर में तथा सोयाबीन की बोनी का रकबा 38 हजार 860 हेक्टेयर शामिल हैं। साग-सब्जी और अन्य फसलों की बुआई 1 लाख 41 हजार 730 हेक्टेयर में पूरी कर ली गई है। राज्य में चालू खरीफ सीजन में 5 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में धान की प्रचलित किस्मों के स्थान पर सुगंधित धान, जिंक धान, जैविक धान, मक्का, कोदो-कुटकी, दलहन और तिहलन की फसलों के साथ-साथ गन्ना की खेती को बढ़ावा देने के विशेष कार्यक्रम संचालित है। 2 लाख एक हजार 417 हेक्टेयर में प्रचलित धान के बदले अन्य फसलों के खेती के लिए 3 लाख 87 हजार 979 किसानों ने सहमति दी है। अब तक 92,772 किसानों द्वारा 51 हजार 972 हेक्टेयर क्षेत्र में गन्ना एवं अन्य उद्यानिकी फसलों की बुआई भी पूरी कर ली गई है।

4916 करोड़ का ऋण वितरित

राज्य में किसानों को खरीफ फसलों की खेती के लिए अब तक बिना ब्याज के 4915 करोड़ 95 लाख रूपए का ऋण वितरित किया जा चुका है। खरीफ सीजन के लिए इस साल किसानों को 5800 करोड़ रूपए का ऋण दिए जाने का लक्ष्य है। बीते खरीफ सीजन राज्य के किसानों कुल 4747 करोड़ 77 लाख रूपए का ऋण प्रदाय किया गया था।

10.10 लाख मेट्रिक टन उर्वरक वितरित

चालू खरीफ सीजन में राज्य के किसानों को 10 लाख 10 हजार 29 मेट्रिक टन रासायनिक उर्वरक वितरण किया जा चुका है। चालू खरीफ सीजन में राज्य में 13.70 लाख मेट्रिक टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य है। अब तक 12.83 लाख मेट्रिक टन का भण्डारण तथा 10.10 लाख मेट्रिक टन का वितरण हो चुका है।

महत्वपूर्ण खबर:मध्यप्रदेश में जमकर बरसे बदरा, उज्जैन संभाग में भारी से अति भारी वर्षा की चेतावनी

Share
Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.